• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Bihar Politics: मंत्री-अधिकारी विवाद में कूदे नौकरशाह से नेता बने आरसीपी सिंह, दे डाली बड़ी नसीहत

Bihar Politics: मंत्री-अधिकारी विवाद में कूदे नौकरशाह से नेता बने आरसीपी सिंह, दे डाली बड़ी नसीहत

बिहार में मंत्री-अधिकारी के विवाद के बीच आरसीपी सिंह ने बड़ा बयान दिया है (फाइल फोटो)

बिहार में मंत्री-अधिकारी के विवाद के बीच आरसीपी सिंह ने बड़ा बयान दिया है (फाइल फोटो)

RCP Singh Statement: बिहार में अधिकारियों और मंत्रियों के बीच चल रहे विवाद के बीच दो मंत्री मदन सहनी और नीरज कुमार बबलू ने अफसरों की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं. मदन सहनी ने तो इस्तीफे तक की पेशकश कर डाली. इन बयानों के बीच आरसीपी सिंह का बयान चर्चा में है.

  • Share this:
पटना. बिहार में मंत्रियों और अधिकारियों के बीच कार्यशैली को लेकर उपजा विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा. नीतीश सरकार के कुछ मंत्रियों ने जैसे ही अधिकारियों के रवैए पर सवाल खड़े किए, तो बिहार की सियासत गर्मा गई. समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी (Minister Madan Sahni) के लगाए आरोप का तूफान अभी थमा भी नहीं था कि बिहार सरकार के ही वन पर्यावरण मंत्री और बीजेपी नेता नीरज कुमार बबलू (Minister Niraj Kumar Bablu) ने भी मदन सहनी के बयान का समर्थन कर दिया. न्यूज 18 से बातचीत में बिहार सरकार के मंत्री ने कहा कि नीतीश कुमार मंत्रियों और अधिकारियों को आमने-सामने बिठाएं और क्या समस्या मंत्रियों को हो रही है, इस पर बात होनी चाहिए.

नीरज ने कहा कि जनता को जवाब मंत्रियों और विधायकों को देना होता है ना की अधिकारियों को, लेकिन कई बार अधिकारी मीडिया के सामने आकर विभाग के योजनाओं की जानकारी दे देते हैं और मंत्रियों को इसकी जानकारी बाद में होती है. बबलू ने कहा कि JDU के मंत्री ने जब सवाल उठाया है तो कोई तो गम्भीर बात होगी. नीरज कुमार ने कहा कि अगर भाजपा के कोई मंत्री उठाते तो कोई और अर्थ निकाला जाता.

आरसीपी सिंह बोले, नेता-अफसर दोनों समझें अपनी-अपनी जिम्मेदारी
इस बीच मंत्रियों और अधिकारियों के बीच उपजे तनाव पर JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने भी बयान दिया. मंत्री मदन सहनी की नाराजगी पर आरसीपी सिंह ने कहा कि “जेडीयू तो उनका अपना घर है और कोई नाराज़ है तो कहेगा नहीं. मीडिया के सामने कह दिया तो क्या बात हो गई है.” आरसीपी सिंह जो खुद भी नेता बनने से पहले नौकरशाह थे, ने कहा कि “ अधिकारियों और नेताओं को प्रशिक्षण लेना चाहिए. बिहार में अधिकारियों को पहले ऐसा प्रशिक्षण नहीं मिलता था. समय-समय पर प्रशिक्षण लेने से ऐसी समस्या नहीं होगी. नेता का अपना रोल है और अधिकारी का अपना रोल है.”

आरसीपी ने कहा कि “जो अपनी ज़िम्मेदारी ठीक से समझ लेता है, उसे कहीं परेशानी नहीं होती है, ऐसे में अधिकारी और नेताओं को अपनी-अपनी ज़िम्मेदारी समझनी होगी. दोनो में आपसी समझ बनी रहनी चाहिए. दोनों को समय-समय पर प्रशिक्षण लेते रहना चाहिए.” उन्होंने इस विवाद के बीच तेजस्वी यादव के सरकार गिर जाने के दावे पर भी चुटकी ली. आरसीपी ने कहा कि तेजस्वी यादव बहुत दिनों से ये दावा कर रहे हैं. उनके दावे पर हम क्या कहें, वो बहुत गलतफहमी में हैं. बिहार की सरकार स्थिर है. सरकार चलेगी, इसमें कही कोई दिक़्क़त नहीं है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज