Assembly Banner 2021

लालू के जेल से टिकट बांटने पर JDU ने उठाए सवाल, RJD प्रत्याशियों का टिकट रद्द करने की मांग

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

जेडीयू नेता ने निर्वाचन आयोग को लिखे अपने पत्र में सवाल किया है कि आखिर जेल में होने के दौरान किसके आदेश से अपने हस्ताक्षर से लालू यादव ने टिकट बांटा है.

  • Share this:
बिहार की सत्ताधारी पार्टाी जनता दल यूनाइटेड ने एक बार फिर आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर जेल से ही पार्टी संचालन का आरोप लगाया है. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने राजद के टिकट वितरण में लालू यादव के सिग्नेचर से पार्टी टिकट बांटने का आरोप लगाया है. उन्होंने  इसकी जांच करने और तत्काल आरजेडी के सभी प्रत्याशियों के टिकट रद्द करने की मांग निर्वाचन आयोग से की है.

जेडीयू नेता ने निर्वाचन आयोग को लिखे अपने पत्र में सवाल किया है कि आखिर जेल में होने के दौरान किसके आदेश से अपने हस्ताक्षर से लालू यादव ने टिकट बांटा है. उन्होंने चुनाव आयोग से इसपर जल्दी ही एक्शन लेने की मांग की है.

जेडीयू नेता नीरज कुमार ने निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर आरजेडी प्रत्याशियों का टिकट रद्द करने की मांग की




ये भी पढ़ें- मांझी का दावा- NDA छोड़ महागठबंधन में आना चाहते थे रामविलास पासवान, मैंने रोकी एंट्री
जेडीयू नेता की बातों का समर्थन करते हुए एलजेपी संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी आरोप लगाते हुए कहा किपूरी की पूरी पार्टी जेल से चलाई जा रही है. सभी को पता है कि प्रत्याशी जेल में मिलने जा रहे है. पब्लिक डोमेन में बात को रखेंगे.

वहीं आरजेडी ने इस आरोप पर लालू प्रसाद यादव का बचाव किया है. पार्टी के नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि जेडीयू के लोग बेचैनी में हैं. उन्होंने सवाल पूछा कि लोग न्यायिक हिरासत में चुनाव लड़ते हैं तो टिकट बांटना कोई गुनाह नहीं. उन्होंने कहा  पार्टी ने लालू को राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत कर रखा है तो वो टिकट क्यों नहीं बांटेंगे?

ये भी पढें- राबड़ी का पीएम मोदी पर ठेठ भोजपुरी में निशाना, बोलीं- अबकी बार इनका के मजा चखाई

हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री और महागठबंधन के सहयोगी जीतन राम मांझी ने इस मामले को कानूनी बताते हुए पल्ला झाड़ लिया है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा  उनकी जानकारी के मुताबिक राबड़ी देवी को किया  टिकट बंटवारे के लिए अधिकृत किया गया था.

बहरहाल इस मामले की पूरी सच्चाई क्या है यह तो अभी सामने आना बाकी है, लेकिन जेडीयू नेता द्वारा निर्वाचन आयोग को लिखी चिट्ठी में आरजेडी के उम्मीदवारों का टिकट रद्द करने की मांग ने सियासी बखेड़ा जरूर खड़ा कर दिया है.

इनपुट- अमित कुमार

ये भी पढ़ें-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज