अपना शहर चुनें

States

तेजस्वी ने केजरीवाल सरकार को तहेदिल से कहा शुक्रिया, जेडीयू ने दिया ये जवाब

तेजस्वी यादव पर सीएम नीतीश कुमार ( फाइल फोटो)
तेजस्वी यादव पर सीएम नीतीश कुमार ( फाइल फोटो)

जेडीयू (JDU) नेता ने कहा, गठजोड़ तो दिख रहा है. सही कहावत है ''लोमड़ी की सोच एक जैसी होती हैं'' ये भी भूल गए कि पहले बिहारी हो बाद में नेता !

  • Share this:
पटना. दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने दावा किया है कि श्रमिकों को लेकर दिल्ली से मुजफ्फरपुर (Delhi to Muzaffarpur) रवाना हुई ट्रेन. 1200 लोगों का किराया अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)सरकार देगी. अरविंद केजरीवाल कैबिनेट के इस मंत्री के दावे के बाद बिहार में राजनीति शुरू हो गई और दिल्ली और बिहार सरकार (Bihar Government)आमने-सामने आ गई. इस बीच इस सियासी आग में घी का काम कर गया नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादवा(Tejaswi Yadav) का वो ट्वीट जिसमें उन्होंने बिहार सरकार को नकारा और दिल्ली सरकार की पुरजोर प्रशंसा की थी.

तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, दिल्ली सरकार को तहे दिल से शुक्रिया. हमने मजदूर भाइयों को बिहार ले जाने हेतु 50 ट्रेन उपलब्ध कराने का वादा किया था. चूंकि बिहार सरकार असमर्थ है इसलिए जिम्मेवार विपक्ष के नाते हम दिल्ली सरकार को बिहार जाने वाली इतनी ट्रेनों की किराया राशि मुहैया कराने के एकदम इच्छुक हैं. 
तेजस्वी ने यह भी कहा कि कृपया राशि ट्रांसफर कराने की प्रक्रिया बताने का कष्ट करें. सामूहिक प्रयास, सकारात्मक सहयोग, सक्रिय शैली और इच्छा शक्ति से ही हम सब गरीब श्रमवीरों की मदद कर सकते हैं. जाहिर है इसपर बिहार में सियासी बवाल होना था सो हुआ. तेजस्वी की इस बात का जवाब जेडीयू ने भी दिया. जेडीयू नेता अजय आलोक ने ट्वीट कर कहा, गठजोड़ तो दिख रहा है. सही कहावत है ''लोमड़ी की सोच एक जैसी होती हैं''  ये भी भूल गए कि पहले बिहारी हो बाद में नेता !!? राजनीति पे बिहार का स्वाभिमान गया तेल लेने !! आपके माता-पिता के राज में बिहारी होना क्या और क्यों माना जाता था ये नयी जेनरेशन को अब पता चल रहा होगा.

वहीं, दिल्ली सरकार के दावे पर जेडीयू ने पलटवार जारी रखा है. गोपाल राय के दावे की पोल बिहार सरकार के मंत्री संजय झा ने भीवो चिट्ठी जारी करके खोल दी जो दिल्ली सरकार के नोडल पदाधिकारी पीके गुप्ता ने बिहार के नोडल पदाधिकारी प्रत्यय अमृत को लिखी थी.



दरअसल इस पत्र में स्पष्ट लिखा है कि  दिल्ली से मुजफ्फरपुर जानेवाले श्रमिक स्पेशल ट्रेन के श्रमिकों का टिकट बल्क में दिल्ली सरकार कटवा दे रही है. सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर ये फैसला लिया गया है. इसमें जो किराया लगेगा, वो बिहार सरकार से लिया जाएगा.

बहरहाल दिल्ली सरकार के दावे और बिहार सरकार के प्रतिदावे पर प्रतिक्रियाओं का आना जारी है और इस पर सियासत गरमा गई है. अब देखना दिलचस्प होगा कि आखिर इस पर शुरू हुई राजनीति कहां जाकर थमती है.

ये भी पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज