Assembly Banner 2021

संगठन को संवारने में जुटी JDU, 243 प्रभारियों की नियुक्ति के साथ शुरू हो रही है ट्रेनिंग

जदयू ने 243 प्रभारियों की नियुक्ति कर ट्रेनिंग देने का बनाया प्लान

जदयू ने 243 प्रभारियों की नियुक्ति कर ट्रेनिंग देने का बनाया प्लान

जदयू ने बिहार के 243 विधान सभा प्रभारियों की नियुक्ति कर दी है. जो प्रभारी बनाए गए हैं उन्हें ट्रेनिंग भी देने की तैयारी की गई है. जदयू कार्यालय में दो दिन का प्रशिक्षण कार्यक्रम तय किया गया है, जो 6 और 7 तारीख को होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 5, 2021, 11:11 PM IST
  • Share this:
पटना. विधान सभा चुनाव में झटका खाने के बाद जेडीयू लगातार अपने संगठन को मजबूती देने में जुटी हुई है.जदयू ने बिहार के 243 विधान सभा प्रभारियों की नियुक्ति कर दी है. जो प्रभारी बनाए गए हैं उन्हें ट्रेनिंग भी देने की तैयारी की गई है. इन प्रभारियों को पार्टी को आगे बढ़ाने की न सिर्फ बड़ी जिम्मेवारी दी गई है, बल्कि उस विधान सभा से जुड़ी तमाम कमियों और मज़बूतियों का अपडेट भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व तक लगातार पहुंचाने का दायित्व सौंपा गया है.

इन प्रभारियों का फीड बैक ही जेडीयू का शीर्ष नेतृत्व के लिए उस विधान सभा के लिए उम्मीदवार उतारने का महत्वपूर्ण पैमाना बन सकता है. यही वजह है की विधान सभा प्रभारियों को महत्वपूर्ण ट्रेनिंग देने के लिए जदयू कार्यालय में दो दिन का प्रशिक्षण कार्यक्रम तय किया गया है, जो 6 और 7 तारीख को होगा. इस प्रशिक्षण का उद्घाटन अध्यक्ष आरसीपी सिंह करेंगे. वहीं इसकी अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा करेंगे. उमेश कुशवाहा की मानें तो प्रशिक्षण कार्यक्रमों से पार्टी के संस्कार को धार मिलती है और हमारे लिए इस धार को तेज करने में विधान सभा प्रभारियों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी.

उमेश सिंह कुशवाहा ने बताया कि निकट भविष्य में सभी प्रखंड अध्यक्षों का भी प्रशिक्षण होगा. उन्होंने कहा कि जदयू न केवल विचार बल्कि व्यवहार में भी बाकी पार्टियों से अलग है. जदयू का हर कार्यकर्ता दूर से पहचाना जा सकता है. लगातार प्रशिक्षण कार्यक्रमों से पार्टी को और धार मिलती है.



दो दिन के ट्रेनिंग में विधान सभा प्रभारियों को  पहले दिन कार्य प्रणाली , आंतरिक बदलाव, बूथ प्रबंधन, सोशल मीडिया, व्यवहारिक समाजवाद, नेतृत्व विकास जैसी महत्वपूर्ण बातें बताई जाएंगीं. वहीं दूसरे दिन सामुदायिक संचार, व्यावहारिक समाजवाद, अहिंसक संचार, राजनैतिक संवाद, के साथ ही मोटिवेशन मार्गदर्शन जैसी महत्वपूर्ण जानकारी दी जाएगी.
इसके साथ ही एक विशेष सत्र प्रश्नकाल और राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी  सिंह के साथ संवाद तथा प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा के संबोधन का होगा, यानी साफ है कि दो दिन की विशेष ट्रेनिंग में विधान सभा प्रभारी हर महत्वपूर्ण जानकारी से लैस होकर अपनी-अपनी विधान सभा क्षेत्र में जाकर पार्टी की मज़बूती के लिए अभी से सक्रिय हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज