एक राष्ट्र-एक चुनाव: JDU ने किया समर्थन का ऐलान, RJD बोली- अतार्किक प्रस्ताव

केसी त्यागी ने जेडीयू के समर्थन पर रुख साफ करते हुए कहा कि इससे बचेगी फिजूलखर्ची बचेगी. देश में हर महीने कहीं न कहीं चुनाव होते रहते हैं और आचार संहिता लगी रहती है, ऐसे में चुनाव उबाऊ हो जाते हैं. खास तौर पर छोटी पार्टियों के लिए तो यह बेहद मुश्किल भरा होता है.

News18 Bihar
Updated: June 19, 2019, 1:42 PM IST
एक राष्ट्र-एक चुनाव: JDU ने किया समर्थन का ऐलान, RJD बोली- अतार्किक प्रस्ताव
आरजेडी सांसद मनोज झा एवं जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी
News18 Bihar
Updated: June 19, 2019, 1:42 PM IST
एक राष्ट्र-एक चुनाव के केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर दिल्ली में सर्वदलीय बैठक होने जा रही है. इसमें हिस्सा लेने के लिए बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी पहुंच गए हैं. बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे और इसमें यह विचार किया जाएगा कि यह भारत जैसे देश में लागू करने के लिए क्या किया जा सकता है. इस बीच जेडीयू ने इस मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है. पार्टी के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने कहा कि यह बहुत आकर्षक सुझाव है और इससे फिजूलखर्ची बचेगी. हालांकि आरजेडी ने इस प्रस्ताव का विरोध किया है.

'इससे फिजूलखर्ची बचेगी'
केसी त्यागी ने जेडीयू के समर्थन पर रुख साफ करते हुए कहा कि इससे बचेगी फिजूलखर्ची बचेगी. देश में हर महीने  कहीं न कहीं चुनाव होते रहते हैं और आचार संहिता लगी रहती है. ऐसे में चुनाव उबाऊ हो जाते हैं. खास तौर पर छोटी पार्टियों के लिए तो यह बेहद मुश्किल भरा होता है. त्यागी ने देश में कई चरणों में चुनाव करवाए जाने का भी विरोध किया है.

प्रस्ताव के समर्थन में JDU  

जेडीयू एक देश, एक चुनाव के पक्ष में तो जरूर है, लेकिन वह अंदेशा जताते हुए कहती है कि ऐसा करना आसान नहीं होगा. जेडीयू का मानना है कि इसके लिए संविधान संशोधन की जरूरत होगी, जो काफी मुश्किल भरा हो सकता है क्योंकि विपक्ष इसपर एकमत नहीं है.

2018 में JDU ने पास किया था प्रस्ताव
बता दें कि जुलाई 2018 में जेडीयू की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रस्ताव पास किया गया था जिसमें पीएम मोदी के बार बार उठाए जा रहे वन नेशन वन इलेक्शन मुद्दे का समर्थन किया गया था. तब से ही जेडीयू कई बार इस मुद्दे पर अपनी सहमति दे चुकी है.
Loading...

RJD ने प्रस्ताव को अतार्किक कहा
हालांकि बिहार में प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी इस प्रस्ताव के समर्थन में नहीं है. पार्टी के सांसद मनोज झा ने कहा कि वन नेशन-वन इलेक्शन बिल्कुल अतार्किक है क्योंकि एक साथ चुनाव करवाने की देश में क्षमता नहीं है. हालांकि उन्होंने कहा कि आरजेडी को इस बैठक में नहीं बुलाया गया है.

इनपुट- अमितेश

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 19, 2019, 1:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...