बिहार की नब्ज टटोलने के लिए अपने नेताओं को ट्रेनिंग देगा JDU, सरकार की योजनाओं पर होगा फोकस

जेडीयू के एक कार्यक्रम में पार्टी के आला नेता. (फाइल फोटो)

जेडीयू के एक कार्यक्रम में पार्टी के आला नेता. (फाइल फोटो)

जेडीयू (JDU) अपने संगठन को मज़बूत करने की क़वायद में लगातार लगा हुआ है. इसी कड़ी में दो दिनो तक पटना (Patna) में जेडीयू (JDU) के प्रदेश दफ़्तर में पार्टी के प्रखंड अध्यक्षों को ट्रेनिंग मिलने वाली है, जिसमें कई तरह की ट्रेनिंग मिलेगी.

  • Share this:
पटना. जेडीयू (JDU) अपने संगठन को मज़बूत करने की क़वायद में लगातार लगा हुआ है. इसी कड़ी में दो दिनो तक पटना (Patna) में जेडीयू (JDU) के प्रदेश दफ़्तर में पार्टी के प्रखंड अध्यक्षों को ट्रेनिंग मिलने वाली है, जिसमें कई तरह की ट्रेनिंग मिलेगी. ट्रेनिंग देने के लिए खुद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह और प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा मौजूद रहेंगे. इस ट्रेनिंग शिविर को कई मायनो में महत्वपूर्ण माना जा रहा है. ट्रेनिंग के ज़रिए न सिर्फ़ जेडीयू का शीर्ष नेतृत्व अपने प्रखंड अध्यक्षों के माध्यम से सरकार के चलाए जा रहे विकास कार्यों और पार्टी के संगठन की ज़मीनी हक़ीक़त जानेगा. बल्कि उनके बताए समस्या का कैसे निराकरण हो इसका टिप्स भी दिया जाएगा.

जेडीयू ने हाल में ही में संगठन में बड़े फेरबदल कर नए नए लोगों को जिम्मेदारी दी है. उन्हें ज़मीनी स्तर पर पार्टी के नेताओ और कार्यकर्ताओं से मदद मिल रही है या नही इसकी भी जानकारी आलाकमान लेने वाली है. इसी के आधार पर प्रदेश संगठन में होने वाले और भी फेरबदल में पार्टी के प्रति निष्ठा से काम करने वाले लोगों को जगह मिलने में प्रमुख मिलने में आसानी होने का दावा किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि खुद सीएम नीतिश कुमार ट्रेनिंग की समीक्षा और मॉनिटरिंग करेंगे.

ट्रेनिग में इन बातों की दी जाएगी जानकारी

मिली जानकारी के मुताबिक ट्रेनिंग में कई और प्रमुख बातों को भी बताया जाना है. जिन विषयों की ट्रेनिंग मिलने वाली है, उसमें व्यावहारिक समाजवाद ग्रामीण विकास योजना एवं समस्या, राजस्व एवं भूमि सुधार के संबंध में राज्य सरकार की पहल, प्रखंड स्तर की विधि व्यवस्था एवं पुलिस प्रशासन की भूमिका मोटिवेशन एवं मार्गदर्शन नेतृत्व विकास,  कार्य प्रणाली संस्कृति और समाजवाद, प्रभाव कारी कार्यशैली, सोशल मीडिया, समय प्रबंधन और लोक विभाग, नेतृत्व सफलता की ओर बढ़ते कदम, सामुदायिक संचार जैसे महत्वपूर्ण विषय शामिल हैं.
बिहार के नब्ज को जानने का प्रयास

जानकारों की मानें तो इन तमाम ट्रेनिंग के माध्यम से जेडीयू आलाकमान बिहार के नब्ज को जानने का प्रयास कर रहा है. साथ ही अपने संगठन के लोगों की पहुंच ज़मीनी स्तर तक ले जाना चाहता है. 26  और 27 मार्च को पहले चरण में 19 जिला के प्रखंड अध्यक्ष ने भाग लिया था. जबकि दूसरे चरण में 22 जिला के प्रखंड अध्यक्ष का प्रशिक्षण शिविर चलेगा. जेडीयू दफ़्तर में दूसरे चरण में जिन जिलों के प्रखंड अध्यक्षों की ट्रेनिंग होने वाली है, उसमें नवगछिया ,  खगड़िया, बेगूसराय ,भागलपुर,  बांका जमुई ,लखीसराय ,नवादा ,नालंदा ,जहानाबाद ,अरवल ,औरंगाबाद ,रोहतास ,कैमूर ,वैशाली ,पटना,  बाढ़ ,गया, बक्सर भोजपुर,मुंगेर ,शेखपुरा शामिल है. ट्रेनिंग शिविर शनिवार सुबह 10.30 बजे से शुरू हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज