Assembly Banner 2021

बिहार में 2005 के प्रदर्शन को फिर दोहराना चाहता है JDU, आरसीपी सिंह ने कार्यकर्ताओं को दिया टास्क

JDU के प्रशिक्षण शिविर में आरसीपी सिंह और अन्य नेता

JDU के प्रशिक्षण शिविर में आरसीपी सिंह और अन्य नेता

Bihar Politics: 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में जेडीयू का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा था और उसे बिहार में काफी सीटों का नुकसान झेलना पड़ा था. पार्टी कार्यकर्ताओं को दो दिनों का दिया गया प्रशिक्षण.

  • Share this:
पटना. जेडीयू बिहार में फिर से 15 साल पहले वाले अंदाज में लौटना चाह रहा है, यानी कोशिश उस तस्वीर को फिर से लाने की है जो बिहार में सत्ता परिवर्तन के साथ 2005 में दिखी थी. इसके लिए JDU के 243 विधानसभा प्रभारियों की दो दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया है. शिविर के दौरान JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह और प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने जो बातें प्रभारियों को बताईं उससे ये साफ हो गया कि JDU इस छटपटाहट में है कि कैसे जल्द से जल्द पार्टी 2005 के स्वरूप में पहुंचे..

दो दिन चले शिविर में JDU के प्रभारियों को ये भी बताया गया की पार्टी हर समय चुनाव के लिए तैयार रहे और इसके लिए कोई भी ढिलाई पार्टी नेतृत्व बर्दाश्त नहीं करेगी लेकिन जो ईमानदारी से पार्टी की मजबूती के लिए काम करेंगे उन्हें पार्टी सम्मान देने में पीछे भी नहीं रहेगी. दो दिनों का प्रशिक्षण शिविर जब समाप्त होने वाला था तो उसके पहले JDU के जो बड़े नेता ट्रेनिंग दे रहे थे उन्होंने वो पांच मंत्र दिए जिसके रास्ते JDU के पुराने गौरव को पाने की उम्मीद कर रहा है.

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि पार्टी हम सबकी मां है ऐसे में ईमानदारी से पार्टी के लिए काम करें, तभी पार्टी सबका ध्यान रखेगी. आरसीपी सिंह ने कहा कि सभी प्रभारी गांवों में जाएं, वहीं प्रवास कर बूथ का काम भी करें. उन्होंने कहा कि जहां हम हारे, वहां जाकर हमारे नेता जनता से सीधा संवाद करें. इसके अलावा बिहार की जनता को बताएं कि नए बिहार के निर्माता नीतीश कुमार ही हैं. जाहिर है JDU के बिहार के तमाम नेताओं और कार्यकर्ताओं के लिए साफ संदेश है कि पार्टी में जमीनी स्तर पर काम करने वाले लोगों को तवज्जो मिलने वाली है लेकिन इसके लिए पार्टी को सौ प्रतिशत योगदान देना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज