Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Bihar Election 2020: जीतनराम मांझी का बड़ा ऐलान, नहीं बनेंगे मंत्री, कांग्रेस को लेकर कही बड़ी बात

    बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले विपक्षी महागठबंधन में शामिल थे मांझी. (फाइल फोटो)
    बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले विपक्षी महागठबंधन में शामिल थे मांझी. (फाइल फोटो)

    Bihar Election Result 2020: बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (Hindustani Awam Morcha)के विधायक दल का नेता चुना गया है. इस बार हम के चार विधायक सदन पहुंचे हैं.

    • Share this:
    पटना. बिहार विधानसभा चुनाव का परिणाम (Bihar Election Result 2020) आने के बाद हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (Hindustani Awam Morcha-HAM) सेक्युलर के प्रमुख जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) गुरुवार को अपने चार सदस्यीय विधायक दल के नेता चुने गए हैं. मांझी के आवास पहुंचे ‘हम’ के सभी नवनिर्वाचित विधायकों ने पूर्व मुख्यमंत्री को पार्टी विधायक दल का नेता चुना है. बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी के बेहतर प्रदर्शन को लेकर ‘हम’ के नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा मांझी को सम्मानित किया गया हैं. आपको बता दें कि मांझी निवर्तमान विधानसभा में ‘हम’ के अकेले विधायक हैं.

    नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली नई सरकार में नहीं बनेंगे मंत्री
    हम विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद मांझी ने कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों को राज्य की प्रगति के लिए राजग में शामिल होने की सलाह दी है. उन्‍होंने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर जहां तक मेरा मानना है तो हम कहेंगे कि कांग्रेस के विधायक विचार करें और नीतीश जी का साथ दें. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि एक बार प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद वह अब नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली नई सरकार में मंत्री नहीं बनेंगे.


    वर्ष 1980 में मांझी ने कांग्रेस से शुरू किया राजनीतिक जीवन


    वर्ष 1980 में मांझी ने कांग्रेस से अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया था. बाद में वह राजद और फिर जदयू में चले गए.जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में जदयू की बुरी तरह हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए नीतीश ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद मांझी को इस पद पर आसीन किया था. बाद में, नीतीश कुमार के इस पद पर वापसी का मार्ग प्रशस्त करने के लिए जदयू से निष्कासित किए जाने पर मांझी ने हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा सेक्युलर नामक एक नई पार्टी बना ली थी और बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले विपक्षी महागठबंधन में शामिल थे.

    मांझी महागठबंधन में समन्वय समिति बनाए जाने की अपनी मांग नहीं पूरी होने पर चुनाव से पहले इस गठबंधन से नाता तोड़कर राजग में शामिल हो गए थे. राजग में सीट बंटवारे के तहत जदयू ने अपने हिस्से की 122 सीटों से ‘हम’ को सात सीट दी थीं जिनमें से उनकी पार्टी चार सीटों पर विजयी रहे हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज