लाइव टीवी

तमतमाए जीतन राम मांझी ने महागठबंधन को दिया दिसंबर तक का अल्टीमेटम

News18 Bihar
Updated: November 11, 2019, 2:36 PM IST
तमतमाए जीतन राम मांझी ने महागठबंधन को दिया दिसंबर तक का अल्टीमेटम
पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने महागठबंधन पर उपचुनाव में धोखा देने का आरोप लगाया है. (फाइल फोटो)

पूर्व सीएम जीतनराम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने कहा कि वह दलित-मुस्लिम एकता के पैरोकार हैं. उन्‍होंने उपचुनाव में धोखा देने का भी आरोप लगाया है.

  • Share this:
पटना. बिहार के पूर्व सीएम और हिन्‍दुस्‍तानी आवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) महागठबंधन से खासे नाराज हैं. मुकेश सहनी (Mukesh Sahni) से करीब होने के बाद मांझी ने अब महागठबंधन (Grand Alliance) को अल्टीमेटम देते हुए दिसंबर तक का वक्त दिया है. सोमवार को मांझी ने कहा कि मुझे विधानसभा के उपचुनाव में धोखा दिया गया. पहले से बातें तय होने के बाद भी मेरे ऊपर फैसला थोपा गया. पूर्व सीएम ने कहा कि अगर हम नाथनगर सीट पर मिलकर उपचुनाव लड़ते तो वहां भी जीत होती.

दलित-मुस्लिम राजनीति के पैरोकार

पूर्व सीएम मांझी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि इस साल दिसंबर तक अगर महागठबंधन में को-ऑर्डिनेशन कमेटी नहीं बनी तो वह भी सोचेंगे और तीसरा फ्रंट बनाने की तैयारी करेंगे. पूर्व सीएम ने कहा कि दलित-मुस्लिम एकता के हम पैरोकार रहे हैं. हमने ओवैसी की पार्टी की जीत पर बधाई दी है. अगर महागठबंधन में चर्चा नहीं हुई तो इस बात पर भी विचार हो सकता है.

औवैसी के साथ आएंगे?

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी (AIMIM) के साथ आने के सवाल पर मांझी ने कहा कि बिहार में दलित-मुस्लिम एक होकर सियासत करेगा तभी कल्याण है, वरना किसी का कल्याण नहीं है. ओवैसी के साथ आने के सवाल पर मांझी ने कहा कि यह ओवैसी के लोग जानें कि साथ आएंगे या नहीं, लेकिन हमने एक कॉल दे दिया है कि दलित-मुस्लिम को साथ लाकर ही सियासत करनी चाहिए.

BJP के साथ जाएंगे?

महागठबंधन से अलग होने की मांझी की घोषणा के साथ ही बिहार में बीजेपी के कई नेताओं का उनसे मिलने-जुलने का सिलसिला बढ़ गया है. गुरुवार को बीजेपी के एमएलसी संजय पासवान ने मांझी से मुलाकात की थी. इसके बाद शुक्रवार को बीजेपी विधायक रामप्रीत पासवान भी उनके मिलने पहुंचे. हालांकि, इस दौरान दोनों के बीच क्या बातें हुईं इसको लेकर कुछ खुलासा नहीं हुआ है.इनपुट- अमितेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 12:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर