Assembly Banner 2021

Bihar Assembly Elections: NDA में जाएंगे या नहीं? मांझी ने नहीं खोले अपने पत्ते, अब 30 अगस्त को करेंगे खुलासा

 जीतन राम मांझी के एनडीए में शामिल होने की संभावना है.. (फाइल फोटो)

जीतन राम मांझी के एनडीए में शामिल होने की संभावना है.. (फाइल फोटो)

पिछले कुछ दिनों से जीतन राम मांझी (Jitan ram Manjhi ) के एनडीए (NDA) में शामिल होने की चर्चा है. जानकार मानते हैं कि श्याम रजक (Shyam Rajak) के JDU छोड़ RJD में जाने के बाद मांझी के आने से नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को विधान सभा चुनाव से पहले बड़ी राहत मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 6:29 PM IST
  • Share this:
पटना. हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (Hindustani Awam Morcha) यानी 'हम' के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan ram Manjhi ) ने गुरुवार को मुख्‍यमंत्री आवास पहुंचकर CM नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) से मुलाकात की. माना जा रहा है कि अब उनका एनडीए (NDA)  में शामिल होना तय हो गया है. हालांकि, CM नीतीश से मिलने के बाद भी मांझी ने अपने पत्ते नहीं खोले और कहा कि हमारे बीच कोई राजनीतिक बात नहीं हुई है. हमने अपने क्षेत्र के मुद्दों को लेकर मुख्‍यमंत्री से बात की है. मीडिया ने उनके एनडीए में शामिल होने की बाबत पूछा तो उन्‍होंने कहा कि 30 अगस्‍त को आप लोगों से बात होगी.





बता दें कि जीतन राम मांझी महागठबंधन से हाल ही में अलग हुए हैं. उसके बाद से कयास लगाये जा रहे हैं कि वे नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल होंगे. मालूम हो कि इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की एक वर्चुअल बैठक में भी जीतन राम मांझी शामिल हुए थे. संभावना जतायी जा रही है कि सीट शेयरिंग को लेकर मामला अटका है.



सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जीतन राम मांझी मगध क्षेत्र की सीटों पर दावेदारी पेश कर रहे हैं. इन सीटों में बीजेपी की प्रभाव वाली सीटें भी शामिल हैं. इसी मामले को लेकर अंतिम दौर की बातचीत चल रही है. वहीं, हम नेता दानिश रिजवान ने भी कहा है कि 30 अगस्त से पहले मांझी के एनडीए में शामिल होने की आधिकारिक घोषणा हो जाएगी.










यह भी खबर आ रही है कि मांझी 15 सीटों की मांग कर रहे हैं जबकि नीतीश कुमार उन्हें 10-12 सीट देने को तैयार हैं. माना जा रहा है कि नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को छोड़ कर श्याम रजक आरजेडी में चले गये हैं. ऐसी स्थिति में श्याम रजक के स्थान पर जीतन राम मांझी को दलित चेहरा के रूप में पार्टी पेश कर सकती है. बहरहाल देखना दिलचस्प होगा कि मांझी आगे क्या करते हैं.




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज