Bihar News: शराबबंदी की सियासत में कूदे जीतन राम मांझी के बेटे और मंत्री संतोष, बोले- सीएम नीतीश के फैसले से बदला समाज

शराबबंदी कानून को लेकर विपक्ष सीएम नीतीश पर हमलावर है. (सांकेतिक तस्वीर)

शराबबंदी कानून को लेकर विपक्ष सीएम नीतीश पर हमलावर है. (सांकेतिक तस्वीर)

Liquor Ban In Bihar: सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के शराबबंदी कानून को विपक्ष लगातार विफल करार दे रहा है. इस बीच एनडीए में शामिल सहयोगी दलों ने भी शराबबंदी कानून की सफलता पर सवाल खड़े कर सरकार को मुश्किल में डाल दिया है. जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी ने शराबबंदी पर सवाल उठाए हैं, लेकिन मांझी के बेटे और बिहार सरकार के मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन ने इसे सफल बताया है.

  • Share this:
जमुई. हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी के पुत्र और बिहार सरकार के मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन (Dr. Santosh Kumar Suman) ने जमुई में शराबबंदी (Liquor Ban) पर बयान देते हुए कहा है कि इस मामले में नेताओं का अपना अलग मत हो सकता है, लेकिन बिहार में पूर्ण शराबबंदी कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़कर पूर्णत: सफल है. साथ ही कहा कि कुछ इस तरह के लोग हैं जो ऐसे कदम को नुकसान पहुंचाते हैं. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) का यह कदम बहुत ही अच्छा है और इससे हमारे समाज में बहुत बदलाव आया है. सुमन ने कहा कि मैं जिस समाज से आता हूं, वहां तो बहुत बुरा हाल था, लेकिन शराबबंदी से बहुत बदलाव किया और अब बच्चे पढ़ना चाहते हैं. यही नहीं, अब बच्चे अपने से बड़े को शराब के सेवन से मना करते हैं. हालांकि नीतीश कुमार के शराबबंदी कानून पर विपक्ष लगातार हमले बोल रहा है. यही नहीं, हाल ही में जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी ने भी सरकार के इस कदम पर सवाल उठाए हैं, जोकि बिहार में एनडीए का हिस्‍सा हैं.

बिहार सरकार में मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन ने कहा कि नीतीश कुमार के इस फैसले से बहुत बदलाव आया है. बच्चों की संख्या स्कूलों में बढ़ी है जिसमें शराबबंदी का भी बहुत बड़ा सहयोग है. इसके साथ उन्‍होंने सीएम की शराबबंदी का समर्थन करते हुए कहा कि समाज में कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिस कारण इस तरह के अभियान पर असर पड़ता है, लेकिन कानून अपना काम कर रहा है और लोग दंडित भी हो रहे हैं. साथ ही उन्‍होंने कानून तोड़ने वालों को कठोर सजा देने का समर्थन किया है.

पिता के पत्र पर यह बोले सुमन

हाल के दिनों में शराब से होने वाली मौतों के बाद बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के अधिकारियों पर केस दर्ज की मांग पर नीतीश कैबिनेट में शामिल मंत्री संतोष सुमन ने कहा कि जो दोषी है उसको दंड मिलना चाहिए, तभी शराब से होने मौतों का सिलसिला थमेगा. जबकि नीतीश कुमार के कैबिनेट में एससी/एसटी कल्याण और लघु सिंचाई मंत्री डॉ.संतोष कुमार सुमन ने जमुई में मुशहर भुइयां संघ के जिला सम्मेलन में अपने समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा कि लोग शराबबंदी के साथ दें, विकास की बात करें और आगे बढ़ने की बात करें.
बता दें कि कैमूर, गोपालगंज और मुजफ्फरपुर में जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत होने के बाद जीतन राम मांझी और वीआईपी पार्टी के मुकेश सहनी ने नीतीश कुमार की शराबबंदी कानून पर सवाल उठाए हैं. जबकि विपक्ष उन पर पहले से ही हमला बोल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज