लाइव टीवी

मांझी को भाया ओवैसी का साथ, CAA-NRC को लेकर दोनों किशनगंज में करेंगे सभा
Patna News in Hindi

Brijam Pandey | News18 Bihar
Updated: December 26, 2019, 4:16 PM IST
मांझी को भाया ओवैसी का साथ, CAA-NRC को लेकर दोनों किशनगंज में करेंगे सभा
ओवैसी के साथ मांझी की सभा 29 दिसंबर को बिहार के किशनगंज में होगी (फाइल फोटो)

जीतन राम मांझी के असदुद्दीन ओवैसी की सभा में शामिल होने को लेकर कांग्रेस नाराज दिख रही है. कांग्रेस के नेता प्रेमचंद्र मिश्रा कहते हैं कि जीतन राम मांझी को ओवैसी की सभा में शामिल नहीं होना चाहिए. इससे बीजेपी को फायदा मिलेगा

  • Share this:
पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री (Former Bihar CM) और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) और एआईएमआईएम (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) जल्द ही एक मंच पर नजर आएंगे. दरअसल नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजनशिप (NRC) को लेकर पूरे देश में विपक्षी पार्टियां लगातार विरोध कर रही हैं. इसी कड़ी में अब बिहार में महागठबंधन में शामिल पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी सीएए और एनआरसी के मुद्दे को लेकर बड़ा विरोध करने वाले हैं.

29 दिसबंर को किशनगंज में होगी सभा

जीतनराम मांझी एआईएमआईएम चीफ ओवैसी के साथ किशनगंज में मंच साझा करेंगे. हम पार्टी के मुखिया जीतनराम मांझी और औवेसी किशनगंज में एक मंच पर एक साथ कार्यक्रम करने जा रहे हैं. दोनों नेता सीएए और एनआरसी के विरोध में ये सभा करेंगे. 29 दिसंबर को किशनगंज में दोनों नेता केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुंकार भरेंगे.

जहां एनआरसी का विरोध होगा वहां मांझी जाएंगे

हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉक्टर दानिश रिजवान मांझी के ओवैसी के साथ सभा करने के सवाल पर कहते हैं कि देश की हर वो पार्टी जो एनआरसी और सीएए का विरोध करती है उसके साथ जीतन राम मांझी हैं. दानिश ने कहा कि 29 दिसंबर को किशनगंज में होने वाली सभा जिसमें ओवैसी शामिल होने वाले हैं उस सभा में जीतनराम मांझी भी मौजूद रहेंगे.

मांझी इससे बीजेपी को फायदा पहुचा रहे 

मांझी के ओवैसी की सभा में शामिल होने को लेकर कांग्रेस नाराज दिख रही है. कांग्रेस के नेता प्रेमचंद्र मिश्रा कहते हैं कि जीतन राम मांझी को ओवैसी की सभा में शामिल नहीं होना चाहिए. इससे बीजेपी को फायदा मिलेगा. यह पूछने पर कि बीजेपी को कैसे फायदा मिलेगा? इस पर मिश्रा कहते हैं जहां-जहां ओवैसी सभा करते हैं वहां उनके समर्थक के अलावा जो दूसरे लोग होते हैं वो बीजेपी के तरफ गोलबंद हो जाते हैं. इससे सीधे बीजेपी को फायदा हो जाता है.

बिहार में नहीं लागू होगा NRC

इस मामले में जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद कहते हैं कि जीतन राम मांझी अपने स्वार्थ के लिए कहीं भी जा सकते हैं. वैसे जहां एनआरसी का विरोध हो रहा है वहां जीतन राम मांझी को जाने की जरूरत नहीं है. बिहार में एनआरसी का विरोध करने की जरूरत नहीं है. क्योंकि खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह कह दिया है कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगा.

लोगों के मन में जहर घोलते हैं ओवैसी

बीजेपी विधायक और बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष नितिन नवीन ने मांझी के ओवैसी की सभा में जाने पर तंज भरे लिहाज में कहा कि जीतन राम मांझी कहां कहां जाएंगे यह पता नहीं. लेकिन जिस तरह से असदुद्दीन ओवैसी लोगों के मन मे जहर घोलने का काम करते हैं, उससे देश अशांत होता है. जीतन राम मांझी जो कर रहे हैं उनको उस पर पुनर्विचार करना चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 26, 2019, 9:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर