Home /News /bihar /

Bihar Politics: बिहार की सियासत के लिए 18 जुलाई क्यों है बेहद अहम?

Bihar Politics: बिहार की सियासत के लिए 18 जुलाई क्यों है बेहद अहम?

JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह का मोदी कैबिनेट में शामिल होने से जेडीयू के भीतर उथल पुथल का दौर जारी (File Photo)

JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह का मोदी कैबिनेट में शामिल होने से जेडीयू के भीतर उथल पुथल का दौर जारी (File Photo)

JDU News: बिहार में आरसीपी सिंह व सीएम नीतीश के बीच की दूरी बढ़ जाने की बात चर्चा में है. जब से आरसीपी सिंह केंद्र में मंत्री बने हैं तब से ही कयास लगाए जा रहे हैं कि वह एक ही पद पर रहेंगे और वह है केंद्र में मंत्री का पद.

पटना. जनता दल यूनाइटेड (JDU) जब से केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हुआ है और JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह (RCP Singh) केंद्र में मंत्री बने हैं, तब से JDU के अंदर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. एक सवाल है कि क्या आरसीपी सिंह बिना सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की मर्जी के ही मंत्रिमंडल में शामिल हो गए. ख़बर ये भी आ रही थी कि नीतीश कुमार ने मंत्री बनने के बाद भी आरसीपी सिंह को बधाई नहीं दी. हालांकि इस सवाल पर नीतीश कुमार मुस्कुराए तो जरूर पर इतना भी साफ-साफ नहीं कह सके कि उन्होंने बधाई नहीं दी. इसी बीच खबर है कि 18 जुलाई को आरसीपी सिंह वीडियो कॉन्फ़्रेसिंग के माध्यम से प्रदेश पदाधिकारियों को वर्चुअल बैठक के जरिए संबोधित करेंगे.

इस बैठक में प्रदेश के तमाम प्रदेश उपाध्यक्ष, महासचिव और सचिव, प्रदेश प्रवक्ता सहित प्रकोष्ठों के प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष शामिल होंगे. इस बैठक के निर्देश प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा (Umesh Kushwaha) ने जारी किए हैं और बैठक Zoom App के जरिए होगी. . इसी बैठक को लेकर बिहार की सियासत में खासकर JDU के अंदर कुतूहल है कि इस संबोधन में आरसीपी सिंह क्या बोलने वाले हैं? क्या कोई निर्देश जारी होगा, या एक व्यक्ति - एक पद' के फार्मूले पर अमल की घोषणा होगी. नीतीश कुमार ने जब राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ा था तब से ही इस फॉर्मूले के लागू होने की बात कही जा रही है.

इस बीच नए सियासी समीकरण बने हैं और आरसीपी सिंह व सीएम नीतीश के बीच दूरी बढ़ जाने की भी चर्चा है. इसीलिए जब से आरसीपी सिंह केंद्र में मंत्री बने हैं तब से यही कयास लगाए हैं कि वह एक ही पद पर काबिज रहेंगे और वह है केंद्र में मंत्री का.

कुशवाहा को मिलेगी कमान?
JDU के संविधान के मुताबिक JDU का राष्ट्रीय अध्यक्ष ही केंद्रीय संसदीय बोर्ड का चेयरमैन होता है, लेकिन हैरानी की बात है की फिलहाल ये दोनों पद अलग-अलग लोगों के पास हैं. संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा हैं, तो आर सी पी सिंह JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.

इसलिए अहम है जदयू की बैठक
जाहिर है कि आरसीपी सिंह पर दबाव बढ़ गया है कि जब वो केंद्र में मंत्री बन चुके हैं तो राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ दें. लेकिन ये तय आरसीपी सिंह को करना है और इसीलिए 18 जुलाई की बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

Tags: Bihar politics, CM Nitish Kumar, Jdu, RCP Singh, Umesh Kushwaha, Upendra kushwaha

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर