लाइव टीवी

बिहार में नीतीश के 'सुशासन' की काट के लिए विपक्ष रच रहा यह 'चक्रव्यूह'?
Patna News in Hindi

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: February 18, 2020, 11:19 PM IST
बिहार में नीतीश के 'सुशासन' की काट के लिए विपक्ष रच रहा यह 'चक्रव्यूह'?
बिहार में इस साल के अंत तक विधानसभा के चुनाव (Bihar Assembly Election) होने हैं.(साभार: न्यूज़ 18 ग्राफिक्स)

RLSP के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा सहित कई नेताओं का मानना है कि तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को आरजेडी (RJD) इस चुनाव में चेहरा न बनाए तो नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के लिए जीतना मुश्किल हो जाएगा. ये लोग शरद यादव को नेता बनाने को लेकर लामबंद हो रहे हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2020, 11:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बिहार में इस साल के अंत तक विधानसभा के चुनाव (Bihar Assembly Election) होने हैं. ऐसे में जहां एक तरफ सियासी पार्टियां अभी से ही अपने वोट बैंक मजबूत करने में जुट गई हैं. वहीं दूसरी तरफ बिहार विधानसभा चुनाव कई सवालों के घेरे में भी है. जिसमें सबसे बड़ा सवाल ये है कि इस बार एनडीए (NDA) किस मुद्दे पर चुनाव लड़ेगा? वहीं सवाल यह भी है कि क्या विपक्षी दल इस बार नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के सामने आरजेडी से इतर किसी चेहरे को सामने लेकर आएंगे?

इसके अलावा क्या लालू यादव (Lalu Family) का परिवार चुनाव में विपक्ष का चेहरा नहीं होगा? और ऐसे में अगर आरजेडी (RJD) मान जाती है कि लालू परिवार बिहार के चुनाव में चेहरा नहीं होगा तो विपक्ष के लिए यह चुनाव कितना आसान होगा? आखिरी और सबसे ख़ास सवाल कि सवाल कि क्या विपक्ष प्रशांत किशोर, कन्हैया कुमार जैसे चेहरों के नाम पर चुनाव लड़ेगा?

कौन होगा विपक्ष का तारणहार

 prashant kishor ambition in politics, prashant kishor form a political party, kanhaiya kumar contest bihar elections, bihar assembly election 2020, kanhaiya kumar, prashant kishor, kanhaiya kumar to contest election, prashant kishor to attack nitish kumar, arvind kejriwal, aam aadmi party, aap, prashant kishor new political party, prashant kishor latest news, Prashant Kishor, Nitish Kumar, name of prashant kishor party, latest bihar news, Lalu Prasad Yadav, bihar assembly elections 2020, Patna News, Patna Latest News, तेजस्वी यादव, शरद यादव, उपेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय जनता दल, आरजेडी, आरएलएसपी, जीतन राम मांझी, पटना, कन्हैया कुमार, प्रशांत किशोर, चाणक्य, चंद्रगुप्त मौर्य, बिहार विधानसभा चुनाव 2020, आम आदमी पार्टी, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली, पूर्वांचली वोटर्स, बिहार में जाति, मंडल और कमंडल की राजनीति,
बड़ा सवाल है कि प्रशांत किशोर और कन्हैया कुमार के नेतृत्व को विपक्षी पार्टियां स्वीकार करेंगी?




मंगलवार को जेडीयू से निष्कासित नेता और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बिहार को लेकर कई बातें कही हैं. प्रशांत किशोर ने इशारा किया कि इस बार का विधानसभा चुनाव पिछले चुनावों से काफी अलग होगा. एक और विपक्षी दल आरएलएसपी ने भी पिछले दिनों साफ कर दिया था कि नीतीश कुमार के सामने विपक्ष शरद यादव को चेहरा बनाए. हालांकि, जानकार मानते हैं कि बिहार में नए राजनीतिक समीकरण में शरद यादव को चेहरा बनाना इतना आसान नहीं है. यह कितना कारगर होगा यह कहना, फिलहाल जल्दबाजी ही होगी. शरद यादव मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं, लेकिन उनकी कर्मभूमि बिहार रही है. शरद यादव मधेपुरा से कई बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं.

नीतीश कुमार के सामने विपक्ष का कौन होगा चेहरा

बिहार में 'जंगलराज बनाम सुशासन' के मुद्दे पर नीतीश कुमार लगातार जीतते आ रहे हैं. पिछले विधानसभा चुनाव को छोड़ दें तो नीतीश कुमार और बीजेपी ने इस मुद्दे को खूब भुनाया है. वर्ष 2015 का चुनाव जेडीयू और आरजेडी ने मिलकर लड़ा था इसलिए 'जंगलराज' का मुद्दा बीजेपी उठा रही थी. माना जाता है कि 'जंगलराज' का मुद्दा उठाने से नीतीश कुमार को फायदा मिलता रहा है. अगड़ी जाति जो लालू राज से परेशान थी, वो एनडीए से नाराज होने के बाद भी अंत में उसी को वोट करती हैं. इसका नतीजा यह हुआ कि नीतीश कुमार लगातार बिहार की राजनीति के 'रिंगमास्टर' बनते गए. लेकिन, नीतीश कुमार के तरकश के इसी तीर को विपक्षी खेमा निकालने का प्लान बना रहा है.

 prashant kishor ambition in politics, prashant kishor form a political party, kanhaiya kumar contest bihar elections, bihar assembly election 2020, kanhaiya kumar, prashant kishor, kanhaiya kumar to contest election, prashant kishor to attack nitish kumar, arvind kejriwal, aam aadmi party, aap, prashant kishor new political party, prashant kishor latest news, Prashant Kishor, Nitish Kumar, name of prashant kishor party, latest bihar news, Lalu Prasad Yadav, bihar assembly elections 2020, Patna News, Patna Latest News, तेजस्वी यादव, शरद यादव, उपेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय जनता दल, आरजेडी, आरएलएसपी, जीतन राम मांझी, पटना, कन्हैया कुमार, प्रशांत किशोर, चाणक्य, चंद्रगुप्त मौर्य, बिहार विधानसभा चुनाव 2020, आम आदमी पार्टी, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली, पूर्वांचली वोटर्स, बिहार में जाति, मंडल और कमंडल की राजनीति,
'जंगलराज बनाम सुशासन' के मुद्दे पर नीतीश कुमार बिहार में लगातार चुनाव जीतते आ रहे हैं (फाइल फोटो)


देखा जा रहा है कि विपक्षी दल खासकर कांग्रेस, आरएलएसपी और 'हम' इस बार पूरी कोशिश में लगे हैं कि किसी भी तरह लालू यादव के परिवार को बिहार चुनाव में चेहरा नहीं बनाया जाए. विपक्षी नेताओं का मानना है कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव नई रणनीति के साथ लड़ा जाएगा, जिसमें 'जंगलराज' जैसे शब्द के लिए कोई जगह नहीं होगी. नीतीश कुमार के पिछले 15 वर्षों के शासनकाल का हिसाब मांगा जाएगा. यह चुनाव नीतीश कुमार के शासनकाल में लिए गए फैसलों और उसके दुष्प्रभाव पर लड़ा जाएगा. माना जा रहा है कि विपक्ष इस बार शिक्षा, स्वास्थ्य, भ्रष्टाचार, रोजगार और महंगाई के मुद्दे पर नीतीश कुमार को घेरने का काम करेगा.

लालू परिवार को दरकिनार करेगा विपक्ष?

उपेंद्र कुशवाहा सहित कई नेताओं का मानना है कि तेजस्वी यादव को आरजेडी इस चुनाव में चेहरा न बनाए तो नीतीश कुमार के लिए जीतना मुश्किल हो जाएगा. ये लोग शरद यादव को नेता बनाने को लेकर लामबंद हो रहे हैं. महागठबंधन के घटक दलों और कांग्रेस की कोशिश है कि किसी तरह लालू यादव को इस बात के लिए मनाया जाए. इन नेताओं को लगता है कि अगर बिहार में लालू यादव की बात आती है तो उसके साथ 'जंगलराज' की याद भी आ जाती है. ऐसे में विपक्ष नहीं चाहता है इस बार बीजेपी और जेडीयू, 'जंगलराज' का भय जनता के बीच उठाएं.

 prashant kishor ambition in politics, prashant kishor form a political party, kanhaiya kumar contest bihar elections, bihar assembly election 2020, kanhaiya kumar, prashant kishor, kanhaiya kumar to contest election, prashant kishor to attack nitish kumar, arvind kejriwal, aam aadmi party, aap, prashant kishor new political party, prashant kishor latest news, Prashant Kishor, Nitish Kumar, name of prashant kishor party, latest bihar news, Lalu Prasad Yadav, bihar assembly elections 2020, Patna News, Patna Latest News, तेजस्वी यादव, शरद यादव, उपेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय जनता दल, आरजेडी, आरएलएसपी, जीतन राम मांझी, पटना, कन्हैया कुमार, प्रशांत किशोर, चाणक्य, चंद्रगुप्त मौर्य, बिहार विधानसभा चुनाव 2020, आम आदमी पार्टी, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली, पूर्वांचली वोटर्स, बिहार में जाति, मंडल और कमंडल की राजनीति,
विपक्ष के कुछ नेता आगामी विधानसभा बिहार चुनाव में शरद यादव को नेता बनाने को लेकर लामबंद हो रहे हैं


शरद यादव को चेहरा बनाकर क्या हासिल होगा

विपक्षी नेताओं का तर्क है कि शरद यादव की पहचान एक सॉफ्ट सोशलिस्ट नेता की है. हालांकि, शरद यादव मूल रूप से बिहार के नहीं हैं, लेकिन इसके बावजूद उनकी साफ-सुथरी छवि को जनता के सामने पेश किया जा सकता है. विपक्षी नेताओं का मानना है कि नीतीश कुमार के सामने और उन्हीं के कद के एक मजबूत नेता को सामने लाकर प्रशांत किशोर और कन्हैया कुमार जैसे युवा नेताओं की भी मदद ली जा सकती है. शरद यादव के नाम पर अगड़ी से लेकर पिछड़ी जातियों का साथ मिल सकता है.

दूसरी तरफ कांग्रेस का यह भी मानना है कि तेजस्वी यादव और आरजेडी की वजह से उसका परंपरागत वोट बैंक उसके साथ नहीं आ रहा है. बिहार में कांग्रेस का इतिहास देखें तो उसका वोट बैंक पिछड़ा, दलित, मुस्लिम और अगड़ी जातियां रही हैं. कांग्रेस को लगता है कि आरजेडी के कारण कहीं न कहीं उसका ये वोट बैंक प्रभावित हो रहा है. इसलिए पार्टी के सीनियर नेताओं का मानना है कि लालू यादव के परिवार को इस बार चुनाव में चेहरा नहीं बनाया जाए.

prashant kishor ambition in politics, prashant kishor form a political party, kanhaiya kumar contest bihar elections, bihar assembly election 2020, kanhaiya kumar, prashant kishor, kanhaiya kumar to contest election, prashant kishor to attack nitish kumar, arvind kejriwal, aam aadmi party, aap, prashant kishor new political party, prashant kishor latest news, Prashant Kishor, Nitish Kumar, name of prashant kishor party, latest bihar news, Lalu Prasad Yadav, bihar assembly elections 2020, Patna News, Patna Latest News, तेजस्वी यादव, शरद यादव, उपेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय जनता दल, आरजेडी, आरएलएसपी, जीतन राम मांझी, पटना, कन्हैया कुमार, प्रशांत किशोर, चाणक्य, चंद्रगुप्त मौर्य, बिहार विधानसभा चुनाव 2020, आम आदमी पार्टी, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली, पूर्वांचली वोटर्स, बिहार में जाति, मंडल और कमंडल की राजनीति,
कांग्रेस मानती है कि तेजस्वी यादव और आरजेडी की वजह से उसका परंपरागत वोट बैंक उसके साथ नहीं आ रहा है


कांग्रेस के पुराने दिन लौटेंगे?

बिहार में पिछले कुछ दिनों से सीपीआई नेता कन्हैया कुमार की रैलियों में दलितों और मुस्लिमों की भीड़ जुटने से विपक्षी कैंप में सबसे ज्यादा हड़कंप है. वरिष्ठ पत्रकार संजीव पांडेय कहते हैं, 'देखिए इसमें कोई दो राय नहीं है कि कन्हैया कुमार को लेकर एनडीए से कहीं ज्यादा परेशानी आरजेडी को हो रही है. कन्हैया की सभा में सबसे ज्यादा भीड़ दलित, मुस्लिम और बेरोजगार युवकों की है. ये ग्रामीण लोग कन्हैया कुमार के भाषण से प्रभावित हो रहे हैं. उन्हीं की भाषा में और उन्हीं के ठेठ अंदाज में कन्हैया बात करते हैं तो लोग उनके मुरीद हो जाते हैं. इसमें कोई दो राय नहीं है कि बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार नीतीश कुमार के दुर्ग को भेदने के लिए सियासी बिसात बिछाई जा रही है. महागठबंधन में शामिल सहयोगी दल तेजस्वी यादव को सीएम पद का चेहरा मानने को तैयार नहीं हैं. साथ ही कन्हैया कुमार की रैलियों में उमड़ती भीड़ ने विपक्षी कैंप को बेचैन कर दिया है.'

ये भी पढ़ें:- ऑपरेशन बिहार: ज़मीन पर कितना मजबूत है बिहार में तीसरा विकल्प?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 5:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर