लाइव टीवी

विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए फुलवारीशरीफ पहुंचे कन्हैया, NRC को लेकर कही ये बात

News18 Bihar
Updated: January 19, 2020, 6:36 AM IST
विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए फुलवारीशरीफ पहुंचे कन्हैया, NRC को लेकर कही ये बात
उन्होंने कहा कि यह लड़ाई संविधान बचाने और संविधान के नुक्शान पहुंचने वालों के बीच की है. (फाइल फोटो)

कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने कहा कि यह मुल्क किसी एक भाषा, जाति और धर्म का नहीं है, बल्कि यह सभी लोगों का देश है.

  • Share this:
पटना. जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) एनपीआर, सीएए और एनआरसी के खिलाफ चल रहे आंदोलन के आठवें दिन धरना में शामिल होने के लिए फुलवारीशरीफ (Phulwari Sharif) पहुंचे. इस दौरान उन्होंने डफली बजाकर लगों से नारा लगवाया. भीड़ को संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि एनपीआर किसी हाल में नहीं आने देना है क्योंकि असली मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए एनआरसी (NRC) लाया गया है. लेकिन देश की जनता भटकेगी नहीं बल्कि गांधी की धारा पर चलकर लड़ाई लड़ेगी.

फुलवारीशरीफ के हारुननगर में सैंकड़ो की संख्या में उपस्थित आनदोलनकारियों को सम्बोधित करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि पूरा देश एक बाग है और आप सब शाहीन है. उन्होंने कहा कि यह मुल्क किसी एक भाषा, धर्म और जाति का नहीं है, बल्कि यहां पैदा होने वाले सभी लोगों का यह देश है. भले ही उनकी संस्कृति, धर्म, रंग और जाति कुछ भी क्यों न हो. उन्होंने कहा कि अब सरकार दमनकारी हुकूमत चलाना, नफरत फैलाना और सांप्रदायिकता को आगे कर हमारे लोगों को बांटने की कोशिश बंद करे. हमें मिलकर काम करना है और इस सरकार की मंशा को नाकाम करना है. इस दौरान उन्होंने कहा कि एनपीआर को हर हाल में सफल नहीं होने देना है.

एक विराट जनसभा होगी
 कन्हैया कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर देश को गुमराह कर रहे हैं. प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के पास कोई जवाब नहीं है. इनके अपने ही बयानों में विरोधाभास है. संविधान को कमजोर किया जा रहा है . उन्होने कहा कि यह लड़ाई संविधान बचाने और संविधान के नुक्शान पहुंचाने वालों के बीच की है. कन्हैया ने कहा कि फरवरी के महीने में संविधान बचाने के लिए पटना के गांधी मैदान में एक विराट जनसभा होगी. उन्होंने कहा कि मोदी-शाह सरकार अब एनपीआर पर कसरत कर रही, जो कुछ ही महीनों में शुरू होने वाला है. गृहमंत्री के बयानों से स्पष्ट है कि देशभर में एनआरसी लागू करने की कवायद चल रही. धरना में कांग्रेस विधायक शकील अहमद खान, बिहार राज्य और महिला समाज की अध्यक्ष निवेदिता झा सहित बड़ी संख्या में लोग मौजदू थे.


ये भी पढ़ें- 


मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस: दिल्ली की साकेत कोर्ट आज सुना सकती है फैसला 

जफ्फरपुर शेल्टर होम केस: साकेत कोर्ट में सुनवाई टली, अब 20 जनवरी को फैसला


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 6:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर