अपना शहर चुनें

States

RJD नेता ने दी पार्टी को नसीहत, पुराने नेताओं को नहीं किया जाए दरकिनार

आरजेडी नेता कांति सिंह
आरजेडी नेता कांति सिंह

कांति सिंह के सवाल पर जब प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो कांति सिंह उन पर ही भड़क गईं. फिर राबड़ी देवी के हस्तेक्षेप के बाद वह शांत हुईं.

  • Share this:
बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) के सरकारी आवास, 10 सर्कुलर रोड पर शुक्रवार को आरजेडी (RJD) की महत्वपूर्ण बैठक हुई. पटना में हुई इस बैठक की अध्यक्षता राबड़ी देवी ने की.

विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, आरजेडी की इस बैठक में पार्टी नेता कांति सिंह ने नसीहत दी कि पार्टी के पुराने नेताओं को दरकिनार नहीं किया जाए. पार्टी में आजकल चापलूसों की पूछ हो रही है. हमारे जैसे नेताओं का टिकट काट दिया जाता है. तब भी हम कुछ नहीं बोलते. लेकिन आज की बैठक की जानकारी भी जब हमें ना मिले तो यह हमें बर्दाश्त नहीं हो सकता. सदस्यता की रसीद भी अब तक नहीं मिली.

कांति सिंह के सवाल पर जब प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो कांति सिंह उन पर ही भड़क गईं. फिर राबड़ी देवी के हस्तेक्षेप के बाद वह शांत हुईं.



राबड़ी देवी ने एकजुटता का दिया संदेश
बैठक में राबड़ी देवी ने कहा कि आप सभी एकजूट रहिए और क्षेत्र में जाकर लोगों से जुड़िए. विरोधी पार्टियों की मंशा कभी सफल नहीं होगी. वो लोग पार्टी को तोड़ने में लगे हैं लेकिन हमारी पार्टी का इतिहास है कि वो मुसीबतों में और ज्यादा मजबूत होती है.

बैठक में नहीं पहुंचे तेजस्वी और तेजप्रताप
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव के भी शामिल होने की बात की जा रही थी लेकिन वह बैठक में शामिल नहीं हुए. हालांकि आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष राम चंद्र पूर्वे ने दावा किया कि बैठक में कुल 67 विधायक मौजूद थे.

ये भी पढ़ें-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज