लाइव टीवी

बिहार: ये हैं कोरोना के कर्मवीर, संकट के समय कर रहे प्रभावित लोगों की सेवा
Patna News in Hindi

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: March 30, 2020, 9:57 PM IST
बिहार: ये हैं कोरोना के कर्मवीर, संकट के समय कर रहे प्रभावित लोगों की सेवा
गंगा कुमार ने कहा कि बिहार का बेटा हूं. अगर बिहार के लोगों के लिए कुछ कर सका तो समझूंगा जीवन सार्थक हुआ.

कोरोना वायरस के खतरे के बीच गंगा कुमार और डॉ. श्याम किशोर प्रसाद जैसे 'कर्मवीर' लोगों की मदद में लगे हुए हैं,

  • Share this:
पटना. कोरोना वायरस (Coronavirus) से पूरा हिंदुस्तान जंग लड़ रहा है, लेकिन इस लड़ाई में कुछ ऐसे भी कर्मवीर हैं जो कुछ हट कर कोरोना से प्रभावित लोगों के लिए मदद कर रहे है. जी हां, बिहार (Bihar) में दो ऐसे ही शख्स संकट के समय जनता के साथ कदम से कदम मिला कर सेवा कर रहे हैं.

आईएएस गंगा कुमार की ये है चाहत
भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के वरिष्ठ अधिकारी के साथ साथ खुद को समाजसेवी कहलाना ज्यादा पसंद करते हैं. बिहार से इनका गहरा रिश्ता है क्योंकि ये खुद बिहार के ही रहने वाले हैं. समाज सेवा से इनका शुरू से ही जुड़ाव रहा है. ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन नाम का एनजीओ चलाते हैं जो कैंसर पीड़ित लोगों की सेवा में जुटा रहता है. इस वक्त ये भारत सरकार में वरिष्ठ पद पर हैं और कुछ दिनों के लिए अवकाश लेकर बिहार में कोरोना वायरस की वजह से प्रभावित लोगों की मदद में दिन-रात लगे हुए हैं. इन्होंने बिहार झारखंड के 150 अधिकारियों की एक टीम बना रखी है जो पुरे हिंदुस्तान में कार्यरत है. व्हाट्सएप से इनकी पूरी टीम जुड़ी हुई है और जैसे ही इनकी टीम को बिहार या झारखंड के किसी व्यक्ति की समस्या की जानकारी होती है. तुरंत सोशल मीडिया की मदद से उसकी खोज कर मदद पहुंचा दी जाती है.

इस वक्त इनकी टीम लगातार पटना सहित बिहार में लगातार लोगों की मदद में जुटी हुई है और अभी तक बिहार के बाहर फंसे लोगों की न सिर्फ मदद की है बल्कि जरूरत के सामान भी भिजवा कर, वहीं रुकने की व्यवस्था भी कर रहे हैं. जबकि गंगा कुमार ने कहा कि बिहार का बेटा हूं. अगर बिहार के लोगों के लिए कुछ कर सका तो समझूंगा जीवन सार्थक हुआ.



पेशे से डॉक्टर हैं प्रसाद


पेशे से डॉक्टर श्याम किशोर प्रसाद बिहार के जाने माने न्यूरो सर्जन हैं जो इस वक्त पटना के राजवंशी नगर स्थित लोकनायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल में कार्यरत हैं. ये ड्यूटी समय से ज्यादा देर तक अस्पताल में रहकर मरीजों की सेवा कर रहे हैं. ये बिहार के पहले ऐसे डॉक्टर हैं जो कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की मदद के लिए अपने निजी खाते से मुख्यमंत्री राहत कोष में एक लाख रुपये की राशि दी है. इतना ही नहीं, श्याम किशोर प्रसाद एक माह का मूल वेतन भी मुख्यमंत्री राहत कोष में दे देंगे. साथ ही अपने निजी आवास के कुछ कमरे भी प्रभावित लोगों के लिए खोलने की बात कह रहे हैं.

श्याम किशोर ने कहा कि डॉक्टर को कोई भगवान कहता है तो हमें ठीक नहीं लगता है. समाज में कोई बीमार ना रहे, ये हम सारे डॉक्टर चाहते हैं. इस वक्त कोरोना जैसे महामारी से हम देश के साथ-साथ बिहार के लोगों को बचा लें, यही हमारी सच्ची सेवा होगी.

ये भी पढ़ें-

Video दिखाकर तेजस्वी ने लगाई गुहार- कृपया 12 करोड़ बिहारियों को बचा लीजिए PM

PK ने ट्वूीट कर दिखाई बिहार के सोशल डिस्टेंस और कोरेनटाइन की हकीकत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 30, 2020, 9:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading