अपना शहर चुनें

States

कर्नाटक की BJP सरकार ने रोकी मजदूरों की ट्रेन तो CM नीतीश पर भड़की RJD-कांग्रेस, कही ये बात

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर बाढ़ और कोरोना संकट ठीक से हैंडल नहीं करने का आरोप लगाते हुए कई सवाल पूछे हैं
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर बाढ़ और कोरोना संकट ठीक से हैंडल नहीं करने का आरोप लगाते हुए कई सवाल पूछे हैं

विपक्ष ने कर्नाटक की भाजपा (BJP) सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि वह प्रवासी मजदूरों के साथ बंधुआ मजदूर जैसा बर्ताव कर रही है.

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन (Lockdown) के बीच अन्य राज्यों में फंसे बिहार के मजदूरों और छात्रों को लेकर गुरुवार को 23 स्पेशल ट्रेनें बिहार आ रही हैं. इन ट्रेनों से लगभग 25 हजार मजदूर और छात्र बिहार के अलग-अलग जिलों में पहुंचेंगे. लेकिन इस बीच कर्नाटक सरकार (Government of Karnataka) के एक फैसले से एक नया विवाद तब पैदा हो गया जब वहां की सरकार ने मजदूरों की कमी रोकने के लिए ऐसी ट्रेनें चलाने से इनकार कर दिया और बुधवार को बिहार आने वाली तीन ट्रेनों को केंसिल कर दिया. इसके साथ ही मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (Chief Minister BS Yeddyurappa) ने प्रवासी मजदूरों से अपील की है कि वे कर्नाटक में ही रुक जाएं, अपने घर न जाएं क्योंकि प्रदेश में निर्माण और औद्योगिक काम शुरू होने वाले हैं. अब इस मामले को लेकर बिहार में सियासत शुरू हो गई है.

तेजस्वी यादव ने उठाए सवाल
विपक्ष ने कर्नाटक की भारतीय जनता पार्टी की सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि सरकार प्रवासी मजदूरों के साथ बंधुआ मजदूर जैसा बर्ताव कर रही है. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि मुश्किल घड़ी में अप्रवासी मजदूरों के साथ कर्नाटक मेंहै अमानवीय व्यवहार  हो रहा है. वहां बिहारी कामगारों के साथ एक बंधुआ मजदूर गुलामों की तरह सलूक किया जा रहा है. बिहार इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगा.


तेजस्वी ने सीएम नीतीश से की अपील


तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हस्तक्षेप करने की अपील करते हुए कहा कि वे अप्रवासी मजदूरों को लेकर कर्नाटक सरकार को कड़ा संदेश दें और बिहार की सरकार अपने अप्रवासी मजदूरों को सही सलामत अविलंब बिहार लाए.

कांग्रेस बोली- नीतीश की मिलीभगत
कांग्रेस ने इसके लिए कर्नाटक सरकार के साथ ही बिहार सरकार को भी जिम्मेदार ठहराया है. पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने नीतीश सरकार की मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार सरकार ने आने से मना किया होगा. कर्नाटक में फंसे मजदूर सरकार के बंधुआ मजदूर नहीं हैं, मजदूरों को बिहार आने दिया जाए.

कर्नाटक सरकार ने रद्द कर दी थी ट्रेन
बता दें कि बुधवार को कर्नाटक सरकार ने बिहार के लिए तीन ट्रेन चलाने का पत्र वापस ले लिया था जिसके बाद गुरुवार को दानापुर पहुंचने वाली तीन ट्रेन रद्द कर दी गईं. बता दें कि मजदूरों को रोकने के लिए कर्नाटक के  मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा ने 1,610 करोड़ रुपये का मुआवजा/लाभ देने का भी ऐलान किया है.

मुआवजा देगी कर्नाटक सरकार
ये मुआवजा उन लोगों को दिया जाएगा जो 25 मार्च से बंद होने की वजह से संकट में हैं. विशेष राहत पैकेज के लाभार्थियों में किसान, फूल, सब्जियां और फल उत्पादक, धोबी, नाई, ऑटो-रिक्शा और टैक्सी ड्राइवर शामिल हैं, जिन्हें लंबे समय तक बंद रहने के कारण भारी नुकसान उठाना पड़ा है.

ये भी पढ़ें


भाजपा विधायक ने 'कोरोना योद्धा' से की बदसलूकी, चिकित्साकर्मियों ने ठप किया कार्य




Lockdown 3.0: बिहार विधान परिषद के 17 सदस्यों का कार्यकाल खत्म, लेकिन मंत्री बने रहेंगे ये 2 नेता

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज