JDU का RJD नेताओं को खुला ऑफर- दरवाजा खुला है, जिसे आना हो आ जाए

जेडीयू नेता ने कहा कि आरजेडी और जेडीयू एक ही राजनीतिक परम्परा की वाहक रही हैं. दोनों का कैडर भी एक ही है. इसकी मेंबरशिप अलग से लेने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि ये ट्रांसफेरेबल ( Transferable ) है.

News18 Bihar
Updated: August 16, 2019, 4:13 PM IST
JDU का RJD नेताओं को खुला ऑफर- दरवाजा खुला है, जिसे आना हो आ जाए
केसी त्यागी ने कहा कि जेडीयू और आरजेडी समान विचारधारा की पार्टी है इसलिए दोनों के सदस्य एक दूसरे में ट्रांसफेरेबल हैं.
News18 Bihar
Updated: August 16, 2019, 4:13 PM IST
क्या बिहार (Bihar) की राजनीति में कोई बड़ा उलटफेर होने वाला है? ये सवाल इसलिए उठ रहा है क्योंकि कयास लगाए जा रहे हैं कि आरजेडी (RJD) के कई विधायक (Member of the Legislative Assembly) सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के संपर्क में हैं. शुक्रवार को इस बात की एक तरह से पुष्टि होती हुई तब लगी जब जेडीयू (JDU) के प्रधान महासचिव केसी त्यागी (KC Tyagi) ने कहा कि  समान विचारधारा और समान कार्यक्रमों के कार्यकर्ताओं के लिए जेडीयू का दरवाजा हमेशा खुला रहता है. हम लोग नीतीश जी और उसके पहले लालू जी के नेतृत्व में इकट्ठे हुए थे, इसमें कुछ अस्वाभाविक नहीं है.

जेडीयू-आरजेडी की राजनीतिक परम्परा एक 
आरजेडी की बैठक में तेजस्वी यादव के नहीं पहुंचने और किसी तरह की संभावित फूट पर जेडीयू नेता ने कहा कि आरजेडी और जेडीयू एक ही राजनीतिक परम्परा की वाहक रही हैं. दोनों का कैडर भी एक ही है. इसकी मेंबरशिप अलग से लेने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि ये ट्रांसफेरेबल ( Transferable ) है.

आरजेडी में सब कुछ ठीक नहीं

उन्होंने कहा कि आरजेडी में जब निराशा होती है और वहां जब एडजस्टमेंट ठीक से नहीं होता है तो स्वाभाविक तौर पर वहां का कार्यकर्ता जेडीयू का मेंबर बन जाता है. फ़ातमी जी हैं, उन्हें सेकंड नहीं लगा जेडीयू में शामिल होने में. जेडीयू नेता ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद से आरजेडी में कुछ भी ठीक नहीं है. पार्टी में सब कुछ ठीक नहीं है. परिवार में भी ठीक नहीं है, महागठबंधन में भी ठीक नहीं है.

तेजस्वी की नेतृत्व क्षमता पर उठ रहे सवाल
बता दें कि बिहार की बढ़ती सियासी सरगर्मी के बीच तेजस्वी यादव की नेतृत्व क्षमता को लेकर उनकी पार्टी में कई सवाल उठे हैं. लालू यादव के करीबी विधायक भाई वीरेंद्र कह चुके हैं कि किसी के रहने या नहीं रहने से कोई फर्क नहीं पड़ता. इसी तरह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं (रघुवंश प्रसाद सिंह और शिवानंद तिवारी) ने भी तेजस्वी की नेतृत्व शैली पर सवाल खड़े किए हैं.
Loading...

(इनपुट- अमितेश)

ये भी पढ़ें-

तिरंगे के अपमान पर JDU विधायक ने दी सफाई, कही ये बात...
राष्ट्रध्वज को सलामी देने में JDU विधायक को आती है शर्म!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 3:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...