खुदाबख्श लाइब्रेरी: बिहार की धरोहर को तोड़कर पुल बनाने का विरोध, पटना से दुबई तक उठी आवाज

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Khuda Bakhsh Library Issue: पटना के अशोक राजपथ पर स्थित ऐतिहासिक धरोहर खुदाबख्श लाईब्रेरी का रीडिंग-रूम तोड़कर पुल निर्माण की योजना पर सियासत गर्मा गई है. विपक्ष और बड़ी संख्या में प्रबुद्ध लोग धरोहर को ध्वस्त करने के विरोध में अपनी आवाज मुखर कर रहे हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना के अशोक राजपथ पर स्थित ऐतिहासिक धरोहर खुदाबख्श ओरिएंटल पब्लिक लाईब्रेरी का एक हिस्सा तोड़कर वहां पुल निर्माण की योजना है. देश-विदेश में मशहूर इस लाइब्रेरी के हिस्से पर निगम की तलवार लटकने लगी है. गांधी मैदान कारगिल चौराहे से एनआईटी तक बनने वाले प्रस्तावित डबल डेकर फ्लाईओवर निर्माण के बीच में आने के कारण खुदाबख्श लाइब्रेरी का एक हिस्सा तोड़ने की चर्चा होने के बाद इसे बचाने की मुहिम तेज हो गई है. तमाम विपक्षी नेताओं और प्रबुद्ध लोगों की ओर से इसे ऐतिहासिक बताते हुए तोड़े जाने का विरोध किया जा रहा है. इसे बचाने के लिए न सिर्फ पटना, बल्कि विदेशों से भी आवाज उठ रही है.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर इसे तोड़े जाने का विरोध करते हुए इसे बचाने की मांग की है. दिल्ली स्थित संस्था इंटेक ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कहा है कि इसे या किसी हिस्से को तोड़ना न सिर्फ बिहार, बल्कि दुनिया के धरोहर के लिए बड़ी क्षति है. यह मुद्दा अब विदेशों में भी सोशल मीडिया के जरिये गरमा रहा है. अलजजीरा इंग्लिश ने भी ट्वीट कर इसे विश्व धरोहर बताते हुए तोड़े जाने का विरोध किया है.

सरकार ने साफ किया- नहीं तोड़ी जाएगी पूरी लाइब्रेरी

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज