किसान स्पेशल ट्रेन की नासिक से दानापुर तक आज पहली यात्रा, खेतिहरों की आय होगी दोगुनी!
Patna News in Hindi

किसान स्पेशल ट्रेन की नासिक से दानापुर तक आज पहली यात्रा, खेतिहरों की आय होगी दोगुनी!
किसान स्पेशल ट्रेन में हैं कई खूबियां.

महाराष्ट्र नासिक के देवलाली से चलकर दानापुर पहुंचने वाले इस स्पेशल कार्गो ट्रेन (Special cargo train) की कई खूबियां हैं.

  • Share this:
पटना. केंद्र सरकार (Central government) ने इस साल के बजट में बड़ी घोषणा करते हुए किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए किसान स्पेशल ट्रेन चलाने का एलान किया था. आज से किसान स्पेशल ट्रेन (Kisan Special Train) की शुरुआत हो रही है जो महाराष्ट्र नासिक से चलकर बिहार के दानापुर तक चलेगी. एक तरफ जहां किसान स्पेशल ट्रेन की कई खूबियां हैं वहीं यह किसानों की फसलों को बड़ा बाजार उपलब्ध कराकर आमदनी को दोगुनी करने का सबसे बड़ा जरिया बनाने का भी एक बड़ा प्रयास है.

किसान स्पेशल ट्रेन की क्या है खूबियां
महाराष्ट्र नासिक के देवलाली से चलकर दानापुर पहुंचने वाले इस स्पेशल कार्गो ट्रेन की कई खूबियां हैं. यह पहली ट्रेन होगी जो किसानों के तात्कालिक फसलों को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने के लिए होगी. इस ट्रेन के डब्बे फ्रिज की तरह होंगे जो चलते-फिरते कोल्ड स्टोरेज का काम करेगा. किसान फल, सब्जी, मछली, दूध जैसे वस्तुओं को एक राज्य से दूसरे राज्य आसानी से ले जा सकते हैं.

किसान स्पेशल ट्रेन की कहां है स्टॉपेज
नासिक के देवलाली से 00107 नम्बर से चलने वाली किसान स्पेशल ट्रेन शुक्रवार को 11 बजे खुलने की बात कही गई है अगले दिन शाम यानि शनिवार को 6:45 बजे दानापुर पहुंचेगी. पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ ने जानकारी देते हुए बताया कि देवलाली से 11 बजे खुलने के बाद अगले दिन 2.45 बजे पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन पहुचेगी. इसके बाद बिहार में प्रवेश करते हुए शाम 4:35 बजे बक्सर में रुकेगी. फिर वहां से चलकर शाम 6:45 बजे दानापुर पहुंचेगी. वापसी में यह ट्रेन अगले दिन 12 बजे दानापुर से खुलेगी.



किसानों को ऐसे होगा फायदा
किसान स्पेशल ट्रेन के जरिये किसान अपनी तात्कालिक फसल जैसे फल, फूल, सब्जी, दूध, मछली, मखाना आदि को फौरन बड़ा बाजार मिल सकेगा. पहले ट्रकों के जरिये दूसरे राज्यों में जाने पर भाड़ा और समय दोनों ज्यादा लगते थे. किसान अपनी जरूरत के अनुसार बोगी बुक करा सकते हैं. इस ट्रेन के जरिये फसल को खराब होने का खतरा भी नहीं होगा. इस ट्रेन के जरिये नासिक से प्याज, अंगूर जैसी फसलों को बिहार का बाजार मिलेगा और बिहार के मखाना, मछली और सब्जी को बाहर का बड़ा बाजार मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज