Bihar Budget 2020: दस प्वाइंट्स में जानें नीतीश सरकार के बजट की अहम बातें

विधानसभा में बजट पेश करते बिहार के वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी

सुशील मोदी ने सदन में कहा कि केंद्रीय करों में राज्य की हिस्सेदारी बढी है साथ ही आर्थिक मंदी के बावजूद भी बिहार ने 15 फीसदी की दर से विकास किया है.

  • Share this:
    पटना. बिहार के डिप्टी सीएम सह वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने मंगलवार को विधानसभा में बिहार सरकार का वार्षिक बजट (Bihar Budget 2020) पेश किया. मोदी का ये 13 वां बजट था जिसे सदन में पेश करते हुए कभी उनका शायराना अंदाज दिखा तो कभी वो अपने विरोधियों पर भी चुटकी लेते दिखे. बिहार सरकार ने इस बजट को ग्रीन बजट (Green Budget) बताया है साथ ही ये भी कहा गया है कि ये देश का पहला ग्रीन बजट है.

    मोदी ने सदन में 2.11 लाख करोड़ रुपए का बजट पेश करते हुए कहा कि वर्ष 2005-06 में राज्य का बजट मात्र 22 हजार 568 करोड़ का था लेकिन धीरे-धीरे बेहतर हुए वित्तीय प्रबंधन और सुधार के उपायों के चलते बजट की राशि साल दर साल बढ़ती गई. वित्तीय वर्ष 2019-20 में बजट का आकार दो लाख 501 करोड़ तक पहुंच गया जाहिर है, पिछले 14 सालों में इसमें लगभग दस गुना वृद्धि हुई.

    न्यूज 18 हिन्दी बता रहा है बिहार सरकार के इस बजट से जुड़े कुछ अहम बिंदू

    1. बिहार सरकार के इस बजट का आकार पिछले साल की तुलना में 11 हजार करोड़ रुपए ज्यादा है जबकि 2004-05 की अपेक्षा में इस वर्ष का बजट आठ गुना ज्यादा है.

    2. नीतीश सरकार के इस बजट में सबसे ज्यादा फोकस शिक्षा पर किया गया है, इसके साथ ही जल जीवन हरियाली पर भी सरकार ने ध्यान दिया है.

    3. सुशील मोदी ने सदन में कहा कि केंद्रीय करों में राज्य की हिस्सेदारी बढी है साथ ही आर्थिक मंदी के बावजूद भी बिहार ने 15 फीसदी की दर से विकास किया है.

    4. बिहार में पिछले 15 सालों में 15 मेडिकल खोले गए तो सभी जिलों में महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज खोलेंगे.

    5. नीतीश सरकार ने अपने कार्यकाल में नई सड़कों का जाल बिछाने के साथ ही उनके चौड़ीकरण पर भी खासा जोर दिया है.

    6. बिहार सरकार के बजट में ये बताया गया कि बिहार में डीजल सब्सिडी की दर 50 से 60 रुपये हो गई है.

    7. बिहार में महिलाओं को नौकरी में जहां 35 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया है तो वहीं दो लाख से अधिक सेविकाओं को स्मार्टफोन दिया गया है.

    8. नीतीश सरकार ने सात निश्चय के तहत बिहार की घर नल का जल और पक्की नली-गली पर विशेष ध्यान दिया है. इसके तहत राज्य के सभी घरों तक पाइप से पानी पहुंचाने का लक्ष्य 2020 तक का है.

    9. बिहार सरकार का दावा है कि राज्य में पर्यटकों की संख्या बढ़ी है और बिहार की सफलता दूसरे राज्यों के लिए नजीर है.

    10. मोदी ने कहा कि पिछले 15 सालों से बिहार ने राजकोषीय घाटे को 3 फीसदी से कम रखा है.

    ये भी पढ़ें- बिहार में आंधी-तूफान से 3 लोगों की मौत, दोपहर तक के लिए अलर्ट

    ये भी पढ़ें- कमरे में मिली परिवार की लाश, नीचे पड़ा था बच्चा और फंदे से लटके थे पति-पत्नी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.