जब पटना में कुमार विश्वास ने गाया 'कोई दीवाना कहता है'..

कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है...कविता सुनते ही युवा खड़े होकर स्वागत करने लगे और तब तक स्वागत करते रहे जब तक कि कार्यक्रम खत्म नहीं हुआ.

News18 Bihar
Updated: September 7, 2018, 7:27 AM IST
News18 Bihar
Updated: September 7, 2018, 7:27 AM IST
पटना विश्वविद्यालय के निवर्तमान छात्र संघ के अध्यक्ष दिव्यांशु भारद्वाज की ओर से आयोजित कवि सम्मेलन में कुमार विश्वास की कविता ने पटनावासियों को घंटों झूमने पर मजबूर कर दिया. बापू सभागार में राष्ट्रकवि दिनकर की जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रख्यात कवि कुमार विश्वास ने एक से बढ़कर एक कविता गीतों के माध्यम से सुनाया.

कवि कुमार विश्वास ने राजनीतिक घटनाक्रम को ना सिर्फ कविता के माध्यम से पेश किया बल्कि अरविंद केजरीवाल, पीएम मोदी, राहुल गांधी समेत बिहार के नेताओं पर भी कविता के माध्यम से जमकर कटाक्ष किया. कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है...कविता सुनते ही युवा खड़े होकर स्वागत करने लगे और तब तक स्वागत करते रहे जब तक कि कार्यक्रम खत्म नहीं हुआ.

ये भी पढ़ें: छात्र संघ विवाद में फंसा राष्ट्रकवि की याद में कुमार विश्वास का कवि सम्मेलन

रामधारी सिंह दिनकर को कवि विश्वास ने कविता से याद किया और हम दिनकर के वंशज हैं, चुप कैसे रहते...पूरे दिल से सुनाया. कवि कुमार विश्वास की कविता ने 4 घंटे तक बापू सभागार में ऐसा समा बांधा कि हॉल छोटे पड़ गए और लगातार तालियां बजती रही.

ये भी पढ़ें: आशुतोष-खेतान हुए अलग पर कुमार विश्वास क्यों नहीं छोड़ रहे केजरीवाल का दामन?

कार्यक्रम में सांसद डॉ सीपी ठाकुर और विधायक अरूण सिन्हा भी मौजूद रहे. कवि कुमार विश्वास ने मीडिया से बातचीत में बिहार की जमकर तारीफ की उन्होंने कहा कि बिहार का सौभाग्य है कि जहां दिनकर, नागार्जुन जैसे कवि और राजेंद्र प्रसाद जैसे राष्ट्रपति हुए. कुमार विश्वास ने अपने आपको राष्ट्रकवि दिनकर का प्रेमी बताया और कहा कि दिसंबर में दिनकर की स्मृति में सिमरिया में साहित्य सम्मेलन का आयोजन भी होगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर