लाइव टीवी

पटना में भाजपा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-कुशवाहा समाज का अपमान क्यों? जवाब दो, जवाब दो...
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 13, 2020, 9:52 AM IST
पटना में भाजपा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-कुशवाहा समाज का अपमान क्यों? जवाब दो, जवाब दो...
कुशवाहा समाज का प्रतिनिधित्व करने का दावा करने वाले संगठनों की ओर से बीजेपी के खिलाफ लगाय गए पोस्टर.

कुशवाहा नव निर्माण मंच की ओर से लगाए गए पोस्टरों में लिखा गया है कि भाजपा के द्वारा लोकसभा चुनाव में कुशवाहा समाज के सदस्य को राज्यसभा भेजने का वादा किया गया था आज कुशवाहा समाज का अपमान क्यों? जवाब दो, जवाब दो.

  • Share this:
पटना. बिहार बीजेपी के दो सांसदों डॉ सीपी ठाकुर और आरके सिन्हा (Dr. CP Thakur and RK Sinha) का राज्यसभा का कार्यकाल अप्रैल में खत्म हो रहा है. विधायकों की संख्या के हिसाब से बीजेपी (BJP) बिहार से एक ही उम्मीदवार को राज्यसभा भेजने की स्थिति में है. ऐसे में  पार्टी ने मौजूद सांसद डॉ सीपी ठाकुर के बेटे विवेक ठाकुर (Vivek Thakur) को उम्मीदवार बनाया. हालांकि इस घोषणा के साथ ही राजनीतिक समर्थन व विरोध की बातें भी शुरू हो गई हैं. खास तौर पर कुशवाहा समाज के लोगों की नाराजगी सामने आई है.

दरअसल BJP की ओर से राज्यसभा में कुशवाहा समाज से एक भी प्रत्याशी नहीं बनाने को लेकर नाराजगी जताई गई है जिसके तहत  पटना के विभिन्न चौक-चौराहों पर लगाया होर्डिंग लगाया गया है. इसमें लिखा गया है इस अपमान का बदला विधानसभा चुनाव में लेकर रहेंगे.

कुशवाहा नव निर्माण मंच की ओर से लगाए गए पोस्टरों में लिखा गया है कि भाजपा के द्वारा लोकसभा चुनाव में कुशवाहा समाज के सदस्य को राज्यसभा भेजने का वादा किया गया था आज कुशवाहा समाज का अपमान क्यों? जवाब दो, जवाब दो.



कुशवाहा नव निर्माण मंच द्वारा लगाया गया पोस्टर




वहीं कुशवंशी महासभा की ओर से लगाए गए पोस्टर में लिखा है, भाजपा द्वारा कुशवाहा समाज को अपमानित करना बंद करो. अपमान का बदला विधानसभा चुनाव में लेंगे.

बता दें कि बिहार एनडीए की ओर से तीन प्रत्याशी घोषित किए गए हैं जिनमें राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री रामनाथ ठाकुर लगातार दूसरी बार जदयू से राज्यसभा जाएंगे.  वहीं बीजेपी ने विवेक ठाकुर को राज्यसभा भेजने का निर्णय किया है.

जबकि आरजेडी की ओर से दो उम्मीदवार राज्यसभा के लिए घोषित किए गए हैं इनमें लालू के बेहद करीबी माने जाने वाले प्रेमचंद गुप्ता व भूमिहार जाति के अमरेंद्रधारी सिंह के नाम हैं.

ये भी पढ़ें


RJD में 'भूमिहार' जाति के उम्मीदवार को राज्यसभा का टिकट? तेजस्वी यादव ने कही बड़ी बात




Inside Story: लालू की खास रणनीति! फैसल अली तो बहाना था, 'AD' की एंट्री करानी थी

First published: March 13, 2020, 9:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading