होम /न्यूज /बिहार /

लालू के लाल तेज प्रताप अब बेचने जा रहे चावल, स्लोगन दिया-अपना उपजाओ, अपना कमाओ और अपना खाओ!

लालू के लाल तेज प्रताप अब बेचने जा रहे चावल, स्लोगन दिया-अपना उपजाओ, अपना कमाओ और अपना खाओ!

तेज प्रताप यादव ने चावल का कारोबार करने के लिए कदम बढ़ाया.

तेज प्रताप यादव ने चावल का कारोबार करने के लिए कदम बढ़ाया.

Tej Pratap Yadav News: समस्तीपुर के हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक तेज प्रताप यादव का दावा है कि किसानों की आय बढ़ाने और रोजगार सृजन के मकसद से ही एलआर राइस एंड मल्टीग्रेन की शुरुआत की गई है. तेज प्रताप यादव की योजना है कि चावल की खरीद सीधे किसानों से की जाए. कंपनी का स्लोगन भी है-अपना उपजाओ अपना कमाओ और अपना खाओ. बिहार में जिला और प्रखंड स्तर पर वितरक बहाल करने की भी योजना है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के विधायक बेटे तेज प्रताप यादव बिजनेस फील्ड में भी अपने हाथ आजमा रहे हैं. अगरबत्ती व्यवसाय के बाद अपने सरकारी आवास से बाजार में बासमती चावल का बिजनेस करने जा रहे हैं. इसके बाद दूसरे उत्पादों को भी लॉन्च करने की योजना है. बता दें कि तेज प्रताप यादव ने लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के नाम पर बनाई गई अपनी कंपनी एल आर राइस एंड मल्टीग्रेन प्राइवेट लिमिटेड का उत्पाद बसंत पंचमी के मौके पर शनिवार से बाजार में उतारने का फैसला लिया है. पहले केवल पूरे बिहार में चावल का व्यापार किया जाना है. पहले से उनका अगरबत्ती बनाने और बेचने का व्यवसाय चल रहा है. तेज प्रताप यादव कंपनी के प्रबंध निदेशक भी हैं.

समस्तीपुर के हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक तेज प्रताप यादव का दावा है कि किसानों की आय बढ़ाने और रोजगार सृजन के मकसद से ही एलआर राइस एंड मल्टीग्रेन की शुरुआत की गई है. तेज प्रताप यादव की योजना है कि चावल की खरीद सीधे किसानों से की जाए. कंपनी का स्लोगन भी है-अपना उपजाओ अपना कमाओ और अपना खाओ. बिहार में जिला और प्रखंड स्तर पर वितरक बहाल करने की भी योजना है. कंपनी का कारोबार समूचे बिहार में होगा बाद में दूसरे प्रदेशों में भी इसके विस्तार करने की प्लानिंग है.

गौरतलब है कि लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव फिलहाल पटना के दानापुर स्थिति लालू खटाल में अगरबत्ती की फैक्ट्री चला रहे हैं. फैक्ट्री के बगल में ही तेज प्रताप यादव का शोरूम भी बना हुआ है. तेज प्रताप यादव ने इस फैक्ट्री की निगरानी अपने जिम में ही रखी है. शोरूम में मॉनिटरिंग के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं.

तेज प्रताप यादव की मानें तो मंदिर में चलने वाले फूलों का प्रयोग करके ही उनकी फैक्ट्री में आयुर्वेदिक अगरबत्ती का निर्माण किया जाता रहा है. तेज प्रताप यादव द्वारा बासमती चावल बेचने की योजना से लोगों में कौतूहल बढ़ गया है. लोग जानना चाहते हैं कि अगरबत्ती के व्यवसाय में सफल रहे तेज प्रताप यादव चावल के कारोबार में किस हद तक सफल हो पाते हैं.

Tags: Bihar latest news, Bihar politics, Patna News Update, Tej Pratap Yadav, Tejashwi Yadav

अगली ख़बर