महागठबंधन में रार! मांझी के बाद RLSP बोली-अहंकार छोड़े RJD, खुश हुई JDU-BJP
Patna News in Hindi

महागठबंधन में रार! मांझी के बाद RLSP बोली-अहंकार छोड़े RJD, खुश हुई JDU-BJP
(फाइल फोटो)

JDU के प्रधान महासचिव केसी त्यागी (KC Tyagi) ने कहा कि एनडीए (NDA) के मुक़ाबले महागठबंधन में समन्वय नहीं है. आरजेडी (RJD) का स्वभाव है- खाओ और खाने मत दो.

  • Share this:
पटना. बिहार में आगामी छह महीने बाद विधानसभा चुनाव (Assembly elections) होने वाले हैं. जाहिर है सभी राजनीतिक दल और गठबंधन अपनी-अपनी तैयारियों में लगी हैं. एक ओर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के नेतृत्व में बिहार एनडीए जहां एकजुट नजर आ रहा है, वहीं महागठबंधन में सबकुछ ठीक नहीं दिख रहा है. हिन्‍दुस्‍तानी आवाम मोर्चा, विकासशील इंसान पार्टी और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) जैसी छोटी पार्टियों ने आरजेडी पर दबाव बढ़ाते हुए दो टूक कहा है कि जितना जल्दी हो सके को-ऑर्डिनेशन कमिटी बनाई जाए वरना ये पार्टियां मार्च के अंत तक अलग रास्ता अख्तियार कर सकती हैं. वहीं, आरजेडी ने दो टूक कह दिया है कि आरजेडी के बिना इन पार्टियों का कोई खास महत्व नहीं है. इस बीच, कांग्रेस सामंजस्य बनाने की बात कह रही है. महागठबंधन में मची खींचतान के बीच बिहार एनडीए के नेता बेहद खुश नजर आ रहे हैं.

JDU बोली- नहीं चलेगा गठबंधन
जेडीयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने कहा कि हमारे एनडीए (NDA) के मुक़ाबले महागठबंधन में समन्वय नहीं है. आरजेडी (RJD) का स्वभाव है- खाओ और खाने मत दो. इसी के चलते जनता दल में आधा दर्जन बार फूट हुई. आरजेडी अकेले ही सम्पूर्ण सत्ता चाहती है, लिहाज़ा यह गठबंधन नहीं चलेगा. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के चलते पिछली बार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली 40 सीटें मिली थीं, जबकि लालू यादव 20 से ज़्यादा सीट कांग्रेस को देने के पक्ष में नहीं थे.

BJP ने कहा- महागठबंधन कहने भर का



महागठबंधन में जारी आपसी खींचतान पर BJP ने तंज कसते हुए कहा कि महागठबंधन सिर्फ कहने भर का है, आपस मे कहीं कोई समंजस्य नहीं है. BJP विधायक संजीव चौरसिया ने न्यूज 18 से बात करते हुए जीतन राम मांझी के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने को-ऑर्डिनेशन कमिटी बनाने की मांग की है और मार्च आखिरी तक कोई बड़ा निर्णय लेने की बात कही है.



बोली RLSP- RJD त्यागे अहंकार
इस बीच, कल तक सबकुछ ठीक होने का दावा करने वाली राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने भी सख्त रुख अपना लिया है. पार्टी के प्रधान महासचिव माधव आनंद ने कहा कि कुछ लोग चाहते हैं कि तेजस्वी यादव सीधा मुख्यमंत्री बन जाएं, लेकिन जब सभी लोग मिलेंगे तभी मुख्यमंत्री बन पाएंगे, नहीं तो किस्मत के धनी नीतीश कुमार फिर बनेंगे मुख्यमंत्री. माधव आनंद ने कहा कि अगर समन्वय समिति नहीं बनानी है तो आप बोल दीजिए नहीं बनाएंगे आप लोग अपना रास्ता देखिए. हालांकि, माधव आनंद ने अभी भी आस नहीं छोड़ी है. उन्होंने कहा कि आरजेडी को अहंकार त्यागना होगा. उम्मीद है कि आरजेडी बनाएगी कमेटी.

मतभेद खत्म करने की होगी कोशिश- कांग्रेस
कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि इसमें किसी कोई तकलीफ़ नहीं है कि समन्वय समिति बने, लेकिन इस सवाल का जवाब आरजेडी के लोग देंगे. सभी लोग बीजेपी के ख़िलाफ़ हैं इसलिए जाएंगे कहां? मिलजुल कर मुद्दों को सुलझाने की कोशिश करेंगे. मतभेद को ख़त्म करने की भी कोशिश होगी.

'आरजेडी है महागठबंधन का न्यूक्लियस'
हालांकि, कांग्रेस से इतर आरजेडी ने एक बार सख्त रुख दिखाया है. पार्टी के सांसद मनोज झा ने तेजस्वी यादव के सीएम के चेहरे पर कहा कि सबको पता है न्यूक्लियस में आरजेडी है. अगर नयूक्लियस ने तय कर लिया है तो बाक़ी सभी एकमत हो जाएंगे. कांग्रेस के साथ रिश्ते पर कहा कि कांग्रेस के साथ रिश्ते को बिहार के कई नेता समझ नहीं पाते. आरजेडी बिहार में बीजेपी के ख़िलाफ़ फ्रंट का सबसे बड़ा चेहरा है. जल्द सब ठीक हो जाएगा.

ये भी पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading