सवर्ण आरक्षण: पूर्व जस्टिस चेलमेश्वर के बयान को आधार बनाकर लालू यादव का केन्द्र पर हमला
Patna News in Hindi

सवर्ण आरक्षण: पूर्व जस्टिस चेलमेश्वर के बयान को आधार बनाकर लालू यादव का केन्द्र पर हमला
लालू यादव (फाइल फोटो)

लालू यादव के ट्वीट से साफ हो गया है कि आरजेडी आर्थिक आधार पर सवर्णों के आरक्षण का विरोध करती है. इससे पहले तेजस्वी यादव ने भी बार-बार अपना रुख साफ किया है कि वह आर्थिक आधार पर आरक्षण के पक्ष में नहीं हैं.

  • Share this:
एक ओर जहां केन्द्र सरकार ने सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के आरक्षण के लिए संविधान में संशोधन कर दिया है. वहीं इसको लेकर अलग-अलग हलकों में बहस भी जारी है. इसी को सुप्रीम कोर्ट से रिटायर्ड जस्टिस चेलमेश्वर के एक बयान को कोट करते हुए आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने केन्द्र सरकार पर हमला बोला है. दरअसल जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा है कि संविधान में आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों के लिए आरक्षण देने का प्रावधान नहीं है.

लालू यादव के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से किए गए इस ट्वीट में उन्होंने एक वेब पोर्टल पर प्रकाशित पूर्व जस्टिस चेलमेश्वर के बयान का लिंक भी शेयर किया है.

जाहिर है सवर्ण आरक्षण को लेकर लालू यादव के इस ट्वीट से साफ हो गया है कि आरजेडी आर्थिक आधार पर सवर्णों के आरक्षण का विरोध करती है. इससे पहले तेजस्वी यादव ने भी बार-बार अपना रुख साफ किया है कि वह आर्थिक आधार पर आरक्षण के पक्ष में नहीं है. जबकि जब इसके लिए संविधान संशोधन हो रहा था तो आरजेडी ने इसका विरोध किया था.
ये भी पढ़ें-  BJP मंत्री का बेतुका बयान, 'प्रियंका गांधी 'नौसिखुआ', सुंदर चेहरे पर नहीं मिलता वोट'



आपको बता दें कि इस मसले को लेकर पार्टी के भीतर भी आपसी खींचतान चल रही है. आरजेडी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी के स्टैंड का विरोध किया है. उन्होंने कहा था कि इस मसले पर पार्टी से चूक हो गई है.

बहरहाल लालू यादव के इस ट्वीट से साफ हो गया है कि आरजेडी आर्थिक आधार पर सामान्य वर्ग के लोगों के आरक्षण का विरोध करती है और उसका यही आधिकारिक स्टैंड है.

इनपुट- अमित कुमार

ये भी पढ़ें-  कांग्रेस- RJD बोली, BJP मंत्री को बर्खास्त करें नीतीश, क्षेत्र में चलना हो जाएगा मुश्किल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज