लालू ने तेजस्वी को जन्मदिन की बधाई देकर कहा, 'तोहफा तो बिहार की जनता कल देगी'

जन्मदिन के मौके पर तेजस्वी ने दो बार पिता लालू यादव से बात करने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए. बाद में पिता लालू यादव ने वापस कॉल कर उनको बधाई दी.(फाइल फोटो)
जन्मदिन के मौके पर तेजस्वी ने दो बार पिता लालू यादव से बात करने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए. बाद में पिता लालू यादव ने वापस कॉल कर उनको बधाई दी.(फाइल फोटो)

सूत्रों ने बताया कि तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) ने सोमवार को सुबह छह बजे पिता लालू यादव (Lalu Yadav) को फोन किया, लेकिन बात नहीं हो पाई. हालांकि, लालू ने बाद में वापस फोनकर तेजस्वी को जन्मदिन की बधाई दी.

  • Share this:
पटना. चारा घोटाला मामलों में रांची में सजा काट रहे राजद प्रमुख लालू प्रसाद (Lalu Yadav) ने सोमवार को अपने छोटे बेटे तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) को उनके 31वें जन्मदिन (Birthday) पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि तोहफा तो बिहार की जनता कल देगी. 243 सीट वाले बिहार विधानसभा का चुनाव तीन चरणों में 28 अक्टूबर (71 सीटों), 3 नवंबर (94 सीटों) और 7 नवंबर (78 सीटों) को संपन्न हुआ था और मतगणना 10 नवंबर को है.

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर विभिन्न टीवी चैनलों के एग्जिट पोल में राजद के नेतृत्व वाले विपक्षी महागठबंधन की प्रदेश में सत्ताधारी राजग पर बढ़त की भविष्यवाणी की गयी है, जिसने तेजस्वी यादव को अपने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में पेश किया है.

परिवार के करीबी सूत्रों ने बताया कि तेजस्वी ने लालू के हेल्पर के नंबर पर अपने पिता से बात करने के लिए रात के करीब 12 बजे कई बार फोन किया लेकिन वह उस समय तक सो गए थे.



सूत्रों ने बताया कि युवा राजद नेता ने सोमवार को सुबह छह बजे फिर से फोन किया लेकिन अपने पिता से बात नहीं कर सके. हालांकि, सूत्रों ने कहा कि लालू ने बाद में वापस फोनकर तेजस्वी को जन्मदिन की बधाई दी.
लालू के परिवार से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि राजद प्रमुख ने तेजस्वी से कहा, "तोहफा तो बिहार की जनता कल देगी."

सोमवार को महागठबंधन के सीएम पद के कैंडिडेट तेजस्वी यादव ने अपना इकतीसवां जन्मदिन मनाया. चुनाव नतीजों का इंतजार कर रहे तेजस्वी ने सादगी से पटना में अपने आवास पर परिवार के बीच अपना जन्मदिन केक काटकर मनाया. इस मौके पर बड़े भाई तेज प्रताप यादव ने तेजस्वी को जन्मदिन की बधाई देते हुए कहा, 'हमने तेजस्वी (उनके जन्मदिन पर) को बहुत ही बड़ा उपहार दिया है. वो सीएम की कुर्सी पर बैठेंगे. नीतीश कुमार के शासन को जनता ने पूरी तरीके से नकार दिया है.'

बता दें कि मंगलवार, 10 नवंबर को नतीजे आने के साथ ही बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न हो जाएगा. 15 वर्षों के बाद राष्ट्रीय जनता दल के नेतृत्व में महागठबंधन की सरकार बनेगी या 15 वर्षों से राज्य की सत्ता पर काबिज नीतीश कुमार अपनी कुर्सी बचा पाने में कामयाब होंगे, कल इसका पता चल जाएगा. इससे पहले ज्यादातर एग्जिट पोल के नतीजे बिहार में महागठबंधन की सरकार बनाता दिख रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज