रोहिणी की CM नीतीश को 'नसीहत', बोलीं- बिहार नहीं संभल रहा तो छोड़ दें कुर्सी, सुशील मोदी को बताया बरसाती मेंढक

रोहिणी पिछले काफी दिनों से बिहार की राजनीति में दिलचस्पी ले रही हैं.

Lalu Yadav News:आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य (Rohini Acharya) ने एक बार फिर सीएम नीतीश को कुर्सी छोड़ने की नसीहत दी है. वहीं, उन्‍होंने भाजपा नेता सुशील मोदी को हाफ पेंट वाला बरसाती मेंढक बताया है.

  • Share this:
पटना. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की बेटी रोहिणी आचार्य (Rohini Acharya) पिछले काफी दिनों से बिहार की राजनीति में दिलचस्पी ले रही हैं. जबकि उनके निशाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो हैं ही, वहीं भाजपा के राज्‍यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) को लेकर वह कुछ ज्यादा ही आक्रामक हैं. रोहिणी आचार्य ने एक बार फिर से ट्वीट कर बिहार सरकार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर हमला बोला है.

लालू प्रसाद की छोटी बेटी रोहिणी आचार्य ने ट्वीट में सीएम नीतीश कुमार से पूछा,'वह खुद से पूछें कि क्या वह वाकई मुख्यमंत्री की कुर्सी के काबिल हैं, जब बिहार नहीं संभल रहा तो कुर्सी से उत्तर क्यों नहीं जाते.'

सुशील मोदी को लेकर कही ये बात
रोहिणी ने भारतीय जनता पार्टी नेता और राज्‍यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है. उन्होंने भाजपा नेता को हाफ पेंट वाला बरसाती मेंढक बोला है. वहीं, रोहिणी ने दूसरी ट्वीट में सिवान के एंबुलेंस मामले की चर्चा करते हुए सुशील मोदी के खिलाफ आक्रामक रवैया अख्तियार किया है. उनका नाम लिए बिना लिखा है कि दूसरे को आईना दिखाने वाले और दिन रात लालू चालीसा पढ़ने वालों की नजर अपनी ही सरकार के घोटाले पर नहीं पड़ती. इस पर वे मोनी बाबा बन जाते हैं. इसके साथ रोहिणी ने लिखा है कि लालू राज में चक्का पंचर हो जाने पर भी वह हाफ पेंट वाला बरसाती मेंढक मीडिया से लेकर न्यायालय तक कागज का पुलिंदा लेकर घूमता रहता था.

बता दें कि सिवान के एंबुलेंस घोटाले को लेकर बिहार में राजनीति इन दिनों परवान पर है. ये एंबुलेंस एमएलसी टुन्ना पांडे के अलावा तत्कालीन विधायक रमेश सिंह कुशवाहा और पूर्व मंत्री व्यास देव प्रसाद के फंड से खरीदी गई हैं. जबकि रघुनाथपुर के पूर्व विधायक विक्रम कुंवर का आरोप रहा है कि 7 लाख ऑन रोड कीमत वाली एंबुलेंस को 22 लाख खरीदा गया है, जो कि एक तरह से घोटाला है.