होम /न्यूज /बिहार /

भोजपुरी में भी कई गीतों को अपने सुरों से सजाया था लता मंगेशकर ने, ये थे भारत कोकिला के वो बेहतरीन गाने

भोजपुरी में भी कई गीतों को अपने सुरों से सजाया था लता मंगेशकर ने, ये थे भारत कोकिला के वो बेहतरीन गाने

.लता मंगेशकर ने न केवल हिंदी बल्कि भोजपुरी में भी एक से एक सुपरहिट गाने दिए हैं.

.लता मंगेशकर ने न केवल हिंदी बल्कि भोजपुरी में भी एक से एक सुपरहिट गाने दिए हैं.

Lata Mangeshkar: भारत की महान गायिका लता मंगेशकर आज भला हमारे बीच नहीं रही लेकिन वह अपने गीतों के माध्यम से हमेशा लोगों के बीच रहेंगी. हिंदी फिल्मों में उन्होंने एक से बढ़कर एक बेहतरीन गाने गाए हैं. बिहार से लता मंगेशकर का गहरा नाता रहा है. लता मंगेशकर ने न केवल हिंदी बल्कि भोजपुरी में भी एक से एक सुपरहिट गाने दिए हैं. उनके द्वारा गाए भोजपुरी गानों की फेहरिस्त लंबी रही है. भोजपुरी की सबसे पहली फिल्म के लिए लता मंगेशकर ने जो पहला गाना गाया उसे तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की फरमाइश पर बनाया गया था. 

अधिक पढ़ें ...

पटना. ‘लग जा गले कि फिर ये हसीं रात हो न हो…’, ‘नाम गुम जाएगा, चेहरा ये बदल जाएगा, मेरी आवाज ही, पहचान है…’ आज हर संगीत प्रेमी के कानों में इन गानों के बोल गूंज रहे हैं.  भारत की महान गायिका लता मंगेशकर आज भला हमारे बीच नहीं रही लेकिन वह अपने गीतों के माध्यम से हमेशा लोगों के बीच रहेंगी. हिंदी फिल्मों में उन्होंने एक से बढ़कर एक बेहतरीन गाने गाए हैं. कई बार उनकी आवाज फिल्मों में जान डालने का काम करता था. जमाना बदलने के बाद भी उनकी आवाज का जादू कम नहीं हुआ. आज की युवा पीढ़ी भी भारत की इस कोकिला की आवाज की दीवानी है.

वहीं मालूम हो कि बिहार से लता मंगेशकर का गहरा नाता रहा है. लता मंगेशकर ने न केवल हिंदी बल्कि भोजपुरी में भी एक से एक सुपरहिट गाने दिए हैं. उनके द्वारा गाए भोजपुरी गानों की फेहरिस्त लंबी रही है. भोजपुरी की सबसे पहली फिल्म के लिए लता मंगेशकर ने जो पहला गाना गाया उसे तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की फरमाइश पर बनाया गया था.

भारत रत्न लता मंगेशकर द्वारा गाए गाने आज भी लोगों के दिलों को छू जाता है. उन्होंने गंगा मैया तोहे पियरी चढ़इबो सैयां से कर दे मिलनवा हे राम का जो गाना गाया तो भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में वह गीत अमर हो गया. भोजपुरी की पहली फिल्म को अपने सुरो से लोगों के दिलों दिमाग पर छा जाने वाली लता मंगेशकर ने जो अमिट छाप छोड़ी है वाह शायद ही लोग कभी भूल पाए.

गंगा मैया तोहे पियरी चढ़ाइबो का एक और गाना मारे करेजवा में तीर भी लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय है. भोजपुरी भाषा से प्रेम रखने वाले आज भी इन गानों को बड़े ही शौक से सुनते हैं. इन गानों में लता मंगेशकर की छोटी बहन उषा मंगेशकर ने भी उनका साथ दिया है. इसके अलावा भी लता मंगेशकर ने फिल्म लागी नहीं छूटे राम का वह गाना लाली लाली होठवा पर से बरसे ललिया हो कि रस चुवेला जो गीत गाया है. वहां जीवंतता के मामले में काल से परे दिखता है. फिल्म लागी नहीं छूटे राम का वह गाना जा जा रे सुगना जा रे कही दे सजनवा से का गीत भी लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय है.

लता मंगेशकर ने भोजपुरी फिल्मों के लिए जब गाने गाए तब उस समय भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की एक विशेष पहचान थी. हिंदी फिल्मों के बड़े गायक लंबे अरसे तक भोजपुरी फिल्मों से दूर रहें लेकिन लता मंगेशकर ने भोजपुरी अभिनेता और मौजूदा सांसद रवि किशन के अभिनय वाली फिल्म दुल्हन चाही में प्रितिया प्रितिया के खेल गाने को अपने सुरों से सजाया था. निश्चित तौर पर भोजपुरी भाषा से प्रेम रखने वाले लता मंगेशकर के गाए कई गानों को शायद ही कभी भूल पाएंगे.

Tags: Lata Mangeshkar, Lata Mangeshkar Songs

अगली ख़बर