लाइव टीवी

बिहार DGP भी मानते हैं कि पुलिस संरक्षण में बिकती है अवैध शराब, पुलिस एसोसिएशन का ऐतराज
Patna News in Hindi

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: February 18, 2020, 8:32 AM IST
बिहार DGP भी मानते हैं कि पुलिस संरक्षण में बिकती है अवैध शराब, पुलिस एसोसिएशन का ऐतराज
बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने माना कि बिहार पुलिस के संरक्षण के बिना अवैध शराब नहीं बिक सकती.

डीजीपी ने माना कि थाने के संरक्षण बिना कोई एक भी बोतल शराब नहीं बेच सकता. हालांकि उन्होंने साथ ही चेतावनी भी दी कि शराब से संबंधित मामले में जो संलिप्त होंगे, वे सीधे जेल भेजे जाएंगे.

  • Share this:
पटना. बिहार में शराबबंदी कानून को लेकर सरकार भले ही तमाम दावे कर ले, लेकिन इन दावों के बीच सूबे के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (DGP Gupteshwar Pandey) के बयान ने प्रशासन से लेकर सियासत में खलबली मचा दी है. दरअसल डीजीपी ने कहा है कि पुलिस संरक्षण में ही बिहार में शराब बिकती है.

थानेदार-चौकीदार चाहें तो..
बता दें कि औरंगाबाद समाहरणालय में लोगों को सबोधित करते हुए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने साफ तौर पर यह माना कि थानेदार और चौकीदार चाहेंगे, तभी राज्य में पूर्ण रूप से शराबबंदी लागू हो सकेगी. थानेदार और चौकीदार जिस दिन जग जाएंगे, उसी दिन से शराब की तस्करी रुक जाएगी.

पकड़े गए तो जाएंगे जेल



उन्होंने यह भी माना कि थाने के संरक्षण बिना कोई एक भी बोतल शराब नहीं बेच सकता. डीजीपी ने साथ ही  चेतावनी भी दी कि शराब से संबंधित मामले में जो संलिप्त होंगे वे सीधे जेल भेजे जाएंगे.



पुलिस एसोसिएशन का ऐतराज
डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने औरंगाबाद में भले ही जिस मकसद से यह बयान दिया हो,  लेकिन उनके इस बयान के कई मतलब निकाले जाने लगे हैं. उनके ही महकमे के लोग सार्वजनिक रूप से इस तरह के बयान दिये जाने को सही नहीं मानते.

बिहार पुलिस एसोसिएशन ने डीजीपी के बयान पर सहमति तो जताई है, लेकिन डीजीपी के बयान की जगह और समय को एसोसिएशन सही नहीं मानता. बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार की मानें तो इस बयान में सौ फीसदी सच्चाई है, लेकिन पुलिसवालों का मनोबल गिर सकता है.

विपक्ष का तंज, सरकार ने किया बचाव
डीजीपी के बयान को लेकर विपक्ष भी सरकार को घेरने में जुटा है. कांग्रेस ने कहा कि डीजीपी के बयान ने नीतीश सरकार के शराबबंदी कानून की पोल खोल कर रख दी है. वहीं सत्तापक्ष पूरे मामले में फजीहत होते देख डीजीपी के बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाया है. जदयू नेता राजीवरंजन की माने तो डीजीपी ने ऐसी बात कही ही नहीं है.

बहरहाल, सत्तापक्ष के नेता चाहें जो कह लें, लेकिन बिहार पुलिस एसोसिएशन की आपत्ति ने यह जाहिर कर दिया है कि डीजीपी के  बयान ने न केवल शराबबंदी कानून की कथित सख़्ती बल्कि सरकारी दावो की भी पोल खोल कर रख दी है.

बिहार पुलिस के मुखिया के इस बयान से यह सवाल उठने लगा है कि सरकार के दावों के बीच पुलिस अगर ऐसा कर रही है तो फिर इसे रोकेगा कौन?

ये भी पढ़ें


राज्यसभा जाने को लालू दरबार में महारथी टेक रहे मत्था! ये हैं 5 'खास' दावेदार     




किसी पार्टी में शामिल नहीं होंगे प्रशांत किशोर, आज पटना में करेंगे नई भूमिका का ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 8:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading