Home /News /bihar /

शराबबंदी: 'न शराब पियेंगे, न बिकने देंगे' बिहार के 8 लाख कर्मचारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आह्वान पर लेंगे शपथ

शराबबंदी: 'न शराब पियेंगे, न बिकने देंगे' बिहार के 8 लाख कर्मचारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आह्वान पर लेंगे शपथ

बिहार के सभी कर्मी संपूर्ण शराबबंदी की शपथ लेंगे.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

बिहार के सभी कर्मी संपूर्ण शराबबंदी की शपथ लेंगे.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Liquor Ban in Bihar: यह पहला मौका होगा जब 26 नवंबर को शपथ लेने से वंचित सरकारी कर्मियों को हफ्ते भर के अंदर शपथ लेने और इसकी वीडियोग्राफी करने का आदेश दिया गया है. मद्य निषेध विभाग ने यह भी निर्देश दिया है कि मुख्यालय प्रमंडल और जिला स्तर पर सभी कर्मचारियों का शपथ पत्र भरवा कर उसकी वीडियोग्राफी करवानी है. इसके अलावा सभी विभागों को शपथ लेने का रिकॉर्ड 1 सप्ताह के अंदर मद्य निषेध विभाग को उपलब्ध करा देना है. इससे पहले सभी विभागों के जिला कार्यालय जिलाधिकारियों को अपने स्तर पर यह आंकड़ा सौंप देंगे.

अधिक पढ़ें ...

पटना. नशा मुक्ति दिवस के अवसर पर राज्य के सभी पदाधिकारी और कर्मचारी आजीवन शराब नहीं पीने और दूसरे को इसका सेवन नहीं करने देने की शपथ लेने वाले हैं. मुख्य सचिवालय विधानसभा ,सभी विभागों, बिहार पुलिस मुख्यालय, जिले, प्रखंड और पंचायतों में सभी सरकारी कर्मी अपने अपने कार्यालय के प्रांगण में यह शपथ ग्रहण करेंगे. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शराबबंदी को लेकर दिए गए निर्देश के बाद फिर से सभी सरकारी कर्मियों को शपथ दिलाई जा रही है. मुख्य सचिव के अलावा डीजीपी समेत सभी आलाधिकारियों के नेतृत्व में अपने-अपने कार्यालयों में शपथ का कार्यक्रम रखा गया है. मुख्य समारोह ज्ञान भवन में आयोजित किया गया है.  मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग के द्वारा नशा मुक्ति दिवस पर आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिरकत करेंगे. मुख्यमंत्री इस अवसर पर शराबबंदी को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता रथ को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. इसके अलावा शराबबंदी कानून को बेहतर तरीके से लागू करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले सरकारी कर्मियों को मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित भी किया जाएगा.

बता दें कि राज्य भर में तकरीबन आठ लाख से अधिक पदाधिकारी कर्मचारी आज शपथ लेंगे. इस मौके पर ज्ञान भवन में उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद और रेनु देवी के अलावा मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन मंत्री सुनील कुमार भी शिरकत करेंगे. गौरतलब है कि हाल में जहरीली शराब से पूरे राज्य में 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी. इसे लेकर बिहार भर में सियासी तूफान भी खड़ा हुआ. इसके बाद पिछले 16 नवंबर को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में संवाद में मैराथन बैठक आयोजित की गई थी.

इसी दिन मुख्यमंत्री के स्तर पर फैसला हुआ था कि शराबबंदी कानून का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के अलावा फिर से शपथ ग्रहण का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. साथ ही लोगों को जागरूक करने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान भी चलेगा. इसके अलावा सभी कर्मियों को शपथ दिलाई जाने को लेकर एक योजना और रूपरेखा भी तैयार की गई.

यह पहला मौका होगा जब 26 नवंबर को शपथ लेने से वंचित सरकारी कर्मियों को हफ्ते भर के अंदर शपथ लेने और इसकी वीडियोग्राफी करने का आदेश दिया गया है. मद्य निषेध विभाग ने यह भी निर्देश दिया है कि मुख्यालय प्रमंडल और जिला स्तर पर सभी कर्मचारियों का शपथ पत्र भरवा कर उसकी वीडियोग्राफी करवानी है. इसके अलावा सभी विभागों को शपथ लेने का रिकॉर्ड 1 सप्ताह के अंदर  मद्य निषेध विभाग को उपलब्ध करा देना है. इससे पहले सभी विभागों के जिला कार्यालय जिलाधिकारियों को अपने स्तर पर यह आंकड़ा सौंप देंगे.

सभी कर्मचारी और अधिकारी अपने अपने कार्यालय में 11:00 बजे शपथ लेंगे. साथ ही सभी विभाग और कार्यालयों के प्रधान की जिम्मेवारी तय की गई है कि शपथ दिलाने के कार्य की रिपोर्ट  मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग को अपने स्तर से भेजेंगे. पटना समेत सभी जिलों में शपथ ग्रहण की तैयारी पूरी कर ली गई है.  प्रखंड स्तरीय कार्यक्रमों में जन प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे. पंचायत स्तर पर भी कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. आंगनबाड़ी केंद्रों पर सहायक सेविकाओं द्वारा कार्यक्रम आयोजित कर पोस्टर बैनर लगाए जाएंगे और शपथ दिलाई जाएगी. कुल मिलाकर इस तरह की रूपरेखा तैयार की गई है कि शपथ कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न हो सके.

Tags: Bihar Government, Bihar News, CM Nitish Kumar, Illegal liquor, Liquor, Liquor business, Liquor Mafia, New Liquor Policy, Nitish Government, PATNA NEWS, Prohibition

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर