LIVE NOW

Live: News 18 E एजेंडा बिहार में बोले जीतन राम मांझी- लालू के साथ रहना मेरी मजबूरी

अलग-अलग सत्रों में यह कार्यक्रम सात भागों में विभाजित है जिसमें बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, बिहार के मंत्री नीरज कुमार समेत पप्पू यादव, उपेंद्र कुशवाहा जैसे राजनीतिज्ञ अपने विचार रखेंगे

Hindi.news18.com | June 24, 2020, 3:31 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated June 24, 2020

हाइलाइट्स

3:25 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में जेडीयू नेता अजय आलोक- 2019 के लोकसभा चुनाव में लोगों ने दिखा दिया है कि लोग किसे पसंद करते हैं और क्यों कर रहे हैं. बिहार में कांग्रेस दूसरे के सहारे ही वजूद में है.

3:19 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में जीतन राम मांझी- आने वाले समय में जो भी स्थिति आए लेकिन न्यूट्रल लोगों को सच बोलने से कोई दिक्कत नहीं. बिहार में अगर महागठबंधन की चीजें सही हो जाएं तो काफी हद तक स्थिति बदल सकती है. लालू प्रसाद मेरी मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं. मैंने चार बार अल्टीमेटम दिया है.

3:15 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में जेडीयू नेता अजय आलोक- जिस राजद ने कांग्रेस पर संगीन आरोप लगाए उन्हीं के साथ कांग्रेस खड़ी है. नीतीश कुमार लालू के पास नहीं गए थे बल्कि लालू ने उनको फोन किया था. अवसरवादिता के कारण कुछ लोग आवाजाही करते हैं.

3:12 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में प्रेमचंद्र मिश्रा- लालू के साथ कांग्रेस का रहना वैचारिक प्रतिबद्धता. जेडीयू का गठबंधन ठीक लेकिन हमारा गठबंधन मजबूरी ये कैसी बात है. राजद के पास ताकत है तो उसे मानना चाहिए. 

3:10 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में जीतन राम मांझी- बात सम्मान और अपमान की नहीं. लोग किसी भी पार्टी के हों निर्णय सामूहिक तौर पर लेना चाहिए. मेरी मांग समन्वय समिति बनाने की है. मेरी मांगो से इतर कहा जा रहा है कि जिसे रहना है वो रहे जिसे जाना है वो जाए. लालू फिलहाल मजबूरी हैं

3:07 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में जीतन राम मांझी- राजनीति में न कोई स्थायी दोस्त, न कोई स्थायी दुश्मन. एनडीए में जाने की खबरें फिलहाल अटकलें

2:57 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में शेखर सुमन- जनता के हाथों में ही है बॉलीवुड के लोगों को उठाने और गिराने का जिम्मा, गलत लोगों की फिल्म को न तो देखें न प्रोमोट करें.

2:55 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में अक्षरा सिंह- मरने पर सभी रोते और सवाल उठाते हैं लेकिन जीते जी कोई देखने नहीं आता. मी टू भी मुद्दा था जो समय के साथ दब गया.

2:54 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में शेखर सुमन- सुशांत की मौत के खिलाफ उठी आवाज दबनी और धीमी नहीं होनी चाहिए

2:52 pm (IST)

न्यूज 18 के ई-एजेंडा में मनोज तिवारी- मनोज वाजपेयी और शेखर सुमन जैसे लोगों को नेक्सस के कारण ही नहीं मिल सकी है वो प्रसिद्धि या सम्मान

LOAD MORE
पटना. बिहार में इस साल के अंत में विधानसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में सारी पार्टियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है इस कड़ी में देश के सबसे बड़े न्यूज़ नेटवर्क न्यूज़ 18 की ओर से भी चुनावी चर्चा के तहत एजेंडा एजेंडा बिहार कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. पहली बार डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हो रहे इस कार्यक्रम में बिहार के सत्ता और विपक्ष के नेता समेत विभिन्न क्षेत्रों से तालुकात रखने वाले लोग अपनी अपनी राय रखेंगे.

हर चुनाव से पहले बिहार के राजधानी पटना में ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन होता रहा है लेकिन इस बार कोरोना वायरस के कारण इसका आयोजन वर्चुअल तरीके से किया जा रहा है अलग-अलग सत्रों में यह कार्यक्रम सात भागों में विभाजित है जिसमें डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, बिहार के मंत्री नीरज कुमार समेत पप्पू यादव, उपेंद्र कुशवाहा जैसे राजनीतिज्ञ अपने विचार रखेंगे. इस कार्यक्रम में तेज प्रताप यादव चिराग पासवान जीतन राम मांझी भी हिस्सा लेंगे.

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज