लोजपा का JDU पर बड़ा हमला, नीतीश कुमार की 'जिद' को बताया NDA की हार की वजह

लोजपा ने सीएम नीतीश पर साधा निशाना.

लोजपा ने सीएम नीतीश पर साधा निशाना.

Patna News: लोजपा (LJP) संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजु तिवारी ने जेडीयू (JDU) के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी के नाम पत्र लिखकर बिहार चुनाव में एनडीए की हार के लिए नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के जिद और अहंकार को ज़िम्मेदार बताया.

  • Share this:

पटना. एक बार फिर लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) ने जनता दल (यूनाइटेड) (JDU) और नीतीश कुमार के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया है. लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजु तिवारी ने जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी के नाम पत्र लिखकर बिहार चुनाव में एनडीए की हार के लिए नीतीश कुमार के जिद और अहंकार को ज़िम्मेदार बताया. अब इसके बाद लोजपा के दूसरे नेता भी नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर हमलावर हो गए हैं. लोजपा के पूर्व विधायक राजू तिवारी ने जदयू महासचिव केसी त्यागी को पत्र लिखा है.

राजू तिवारी ने अपने पत्र में कहा, ' नीतीश कुमार के ज़्यादा सीट पर लड़ने की जिद के कारण एनडीए का बिहार में बुरा प्रदर्शन रहा. तिवारी ने आगे कहा कि नीतीश कुमार चिराग पासवान को बीमार पिता के इलाज में फंसे देख जदयू के लिए 122 और लोजपा को मात्र 15 सीट देना चाहते थे. उन्होंने कहा कि राजद के साथ मात्र 101 सीट पर लड़ने वाले नीतीश ने कैसे ली, 122 सीट यह लालच का प्रतीक है.

लोजपा के सुझाव को किया गया दरकिनार

इतना हीं नहीं लोजपा बिहार ससंदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजू तिवारी ने पत्र में आरोप लगाया है कि लोजपा के 'बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट' को घोषणापत्र में शामिल नहीं किया गया. चिराग पासवान के इस विजन को दरकिनार किया गया, जिससे लोजपा के समर्थक आहत हुए. यही वजह है की बिहार चुनाव में एनडीए की खास करके जेडीयू की बड़ी जीत नहीं हो पाई है पाई है.
तेजस्वी यादव का बड़ा बयान

सोशल मीडिया पर किसी जनप्रतिनिधि और सरकारी अधिकारी पर अमर्यादित टिप्पणी करने पर कानूनी कार्रवाई का निर्देश देने वाली बिहार पुलिस ने चरित्र सत्यापन को लेकर एक नया आदेश जारी किया है. इस आदेश के तहत अगर कोई व्यक्ति विधि व्यवस्था की स्थिति में सड़क जाम और विरोध प्रदर्शन के दौरान किसी आपराधिक कृत्य में शामिल होता है और उसके खिलाफ अगर पुलिस चार्जशीट दाखिल कर देती है तब ऐसा शख्स किसी भी तरह के सरकारी ठेके में भाग लेने या फिर सरकारी नौकरी में योगदान करने के काबिल नहीं माना जाएगा. बिहार सरकार के इस फरमान के बाद सियासत तेज हो गई है. जबकि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने इसे लेकर सीएम नीतीश पर निशाना साधा है.

Youtube Video



ये भी पढ़ें: Bihar News: एक्टर Sonu Sood ने की नालंदा के खिलाड़ी आनंद की मदद, दिल्ली में कराया घुटनों का इलाज

तेजस्वी यादव ने ट्वीट में लिखा है, 'मुसोलिनी और हिटलर को चुनौती दे रहे नीतीश कुमार कहते हैं अगर किसी ने सत्ता व्यवस्था के विरुद्ध धरना-प्रदर्शन कर अपने लोकतांत्रिक अधिकार का प्रयोग किया तो आपको नौकरी नहीं मिलेगी. मतलब नौकरी भी नहीं देंगे और विरोध भी प्रकट नहीं करने देंगे. बेचारे 40 सीट के मुख्यमंत्री कितने डर रहे हैं?

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज