लाइव टीवी

झारखंड: बिखर रहा है NDA या अपनी अलग रणनीति पर काम रही है BJP?

News18 Bihar
Updated: November 13, 2019, 10:53 AM IST
झारखंड: बिखर रहा है NDA या अपनी अलग रणनीति पर काम रही है BJP?
झारखंड में जेडीयू-एलजेपी एनडीए से अलग चुनाव लड़ रही है और आजसू के भी तेवर तल्ख दिख रहे हैं. (फाइल फोटो)

विपक्ष एनडीए (NDA) में बिखराव की उम्मीद लगाए बैठा है. विपक्षी नेता मानते हैं कि केंद्र में भले ही बीजेपी (BJP) मजबूत स्थिति में हो, लेकिन राज्यों में एनडीए की नींव कमजोर हो रही है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 13, 2019, 10:53 AM IST
  • Share this:
पटना. अभी महाराष्ट्र एनडीए (Maharashtra NDA) का मामला शांत भी नहीं हुआ कि झारखंड एनडीए (Jharkhand) में बिखराव की खबरें सामने आने लगी हैं. पहले झारखंड में सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने अलग चुनाव लड़ने का ऐलान किया. इसके बाद ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (AJSU) ने तल्ख तेवर दिखाए. इसके बाद रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) की पार्टी लोक जन शक्ति पार्टी (LJP) भी झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुकी है. हालांकि, बीजेपी (BJP) के नेता इसे ज्‍यादा गंभीर नहीं मान रहे हैं, लेकिन विपक्ष इसलिए उत्साहित है कि उनकी नजर में एनडीए खंड-खंड हो रहा है.

दरअसल, महाराष्ट्र एनडीए से शिवसेना अलग क्या हुई, झारखंड में आजसू ने भी अपना रास्ता अलग करने का मन बना लिया है. वहीं, एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. चर्चा तो यह भी है कि आजसू, एलजेपी और जेडीयू साथ में चुनाव लड़ सकती है. हालांकि, झारखंड में एनडीए से अलग चुनाव लड़ने की बात पर जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन अपनी पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी बनाने का हवाला देते हैं. उन्‍होंने कहा, 'राष्ट्रीय पार्टी बनने के लिए हर राज्य में चुनाव लड़ना होता है. इस कारण जेडीयू कई राज्यों में चुनाव लड़ती है. दूसरे राज्यों में हमारे विधायक भी हैं.'

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने झारखंड में एनडीए से अलग चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. (फाइल फोटो)


BJP को बिखराव की चिंता नहीं

वहीं, बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनन्द कहते हैं, 'एनडीए के सभी दलों के अपने रास्ते हैं. वे दूसरे राज्यों में चुनाव लड़ सकते हैं. वैसे झारखंड में बीजेपी की सरकार बनेगी. बड़ी आसानी से रघुवर दास सरकार बना लेंगे.' महाराष्ट्र, झारखंड और बिहार से एलजेपी और जेडीयू का झारखंड में चुनाव लड़ने के बाद विपक्ष एनडीए में बिखराव की उम्मीद लगाए बैठा है. अपोजिशन लीडर्स मानते हैं कि भले ही बीजेपी केंद्र में मजबूत स्थिति में हो, लेकिन राज्यों में इस तरह से पार्टियों का टूटना एनडीए की नींव को कमजोर करेगा.

विपक्ष उत्‍साहित
बहरहाल, विपक्षी पार्टियां इस तरह की सियासी डेवलपमेंट से बेहद उत्साहित हैं. आरजेडी नेता मृत्‍युंजय तिवारी कहते हैं कि एनडीए के टूटने का सिलसिला जारी है. कारण है कि बीजेपी अपनी सहयोगी पार्टियों अपने साथ लेकर नहीं चल रही है. बीजेपी को अंहकार हो गया है.
Loading...

Chirag Paswan, चिराग पासवान
एलजेपी ने मंगलवार को झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए चार सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया. (फाइल फोटो)


तो अलग प्‍लानिंग पर चल रही है BJP
कांग्रेस नेता प्रेम चन्द्र मिश्रा कहते हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी से लोगों का एतबार खत्म हो रहा है. इसकी शुरुआत हो चुकी है और आने वाले समय में एनडीए खंड-खंड हो जाएगा. बहरहाल, इस मसले पर बीजेपी के बड़े नेताओं ने ज्यादा बयान नहीं दिए हैं. इसलिए पार्टी की रणनीति को समझ पाना आसान भी नहीं है. लेकिन, राजनीतिक गलियारों में यह भी चर्चा है कि शायद बीजेपी अपनी अलग रणनीति के साथ कमबैक करने की प्लानिंग पर चल रही है.

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 9:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...