Bihar Election: चिराग का CM नीतीश पर 'प्रहार', कहा- बहुत उम्मीद थी, लेकिन बिहार का विकास न कर सके

चिराग पासवान ने जेडीयू से अलग चुनाव लड़ने के कारणोंका किया खुलासा.
चिराग पासवान ने जेडीयू से अलग चुनाव लड़ने के कारणोंका किया खुलासा.

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में जेडीयू के खिलाफ और बीजेपी के साथ मैदान में उतरने के कारणों का लोजपा (LJP) अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने किया खुलासा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर केंद्र की योजनाओं को जमीन पर नहीं उतारने का लगाया आरोप.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 6:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में रहते हुए जेडीयू (JDU) से अलग चुनाव लड़ने के फैसले को लेकर उठ रहे सवालों के बीच लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने आज एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है. चिराग ने मीडिया के साथ बातचीत में यह भी दोहराया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व पर उन्हें पूरा भरोसा है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी की विकास योजनाओं को नीतीश कुमार ने बिहार में सही तरीके से जमीन पर नहीं उतारा, जिसकी वजह से बिहार के लोगों की उम्मीदें पूरी नहीं हो पाईं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार से लोगों को बहुत उम्मीद थी, लेकिन वे बिहार का विकास नहीं कर सके. यही कारण रहा कि लोजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में जेडीयू के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने का फैसला किया.

चिराग पासवान ने बिहार चुनाव से पहले एनडीए में अपने सहयोगी घटक दल जेडीयू और नीतीश कुमार के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए. उन्होंने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा भरोसा है. पीएम मोदी ने बिहार के विकास के लिए डबल इंजन की सरकार चलाने की बात भी कही थी, लेकिन अफसोस की बात है कि उनकी बातों और कार्यक्रमों को अमल में नहीं लाया जा सका. पीएम मोदी की योजनाओं को सही तरीके से जमीन पर नहीं उतारा जा सका. चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर हमला करते हुए कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री से बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन वे इन उम्मीदों को पूरा नहीं कर सके.






नीतीश कुमार के बिहार के विकास के विजन पर भी चिराग पासवान ने सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है. योजनाओं से जो फायदा हो सकता था, वह उन तक पहुंच ही नहीं पा रही हैं. जमीनी स्तर पर जो काम होने चाहिए थे, वह नहीं हुए हैं. ऐसे में मेरे लिए यह सोचना लाजिमी है कि इन स्थितियों पर विचार किया जाए. मेरा सवाल है कि बिहार के मुख्यमंत्री के पास विकास के लिए क्या योजना है. लोजपा ने इन मुद्दों पर सोचकर ही बिहार चुनाव में जेडीयू के खिलाफ जाने का फैसला लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज