चिराग के चाचा पशुपति ने बताई LJP में तख्ता पलट की वजह, नीतीश की शान में गढ़े कसीदे

लोकसभा स्पीकर ने पशुपति पारस को LJP के संसदीय दल के नेता के रूप में मान्यता दी. (फाइल फोटो)

Lok Janshakti Party Rebel: चिराग पासवान से बगावत कर पशुपति पारस के साथ जाने वाले बागी सांसदों प्रिंस पासवान, वीणा सिंह, चंदन कुमार और महबूब अली कैसर के जेडीयू में शामिल होने की भी चर्चा है.

  • Share this:
    पटना. लोक जनशक्ति पार्टी में रातों-रात तख्ता पलट कर राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने वाले चिराग पासवान (Chirag Paswan) के चाचा और सांसद पशुपति कुमार पारस ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की प्रशंसा की है. चिराग पासवान से बगावत करने के बाद 5 सांसदों का समर्थन पा रहे पशुपति कुमार पारस ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को अच्छा प्रशासक बताया. उन्होंने कहा कि साल 2014 से ही लोक जनशक्ति पार्टी एनडीए का हिस्सा रहेगी ऐसे में वह अभी भी एनडीए में ही बनी रहेगी. नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए पशुपति कुमार पारस ने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार के विकास के लिए काम किया है और भविष्य में भी वह काम करते रहेंगे.

    पार्टी में विद्रोह के कारण का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष चिराग पासवान के द्वारा विधानसभा चुनाव में अलग लड़ने के फैसले से पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं में आक्रोश था. उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से मुलाकात की कयासों की भी पुष्टि करते हुए कहा कि रविवार को ही पार्टी के 5 सांसदों ने मिलकर ओम बिड़ला को चिट्ठी दी है, जिसमें पशुपति पारस को संसदीय दल का नेता चुने जाने की मांग की गई है.



    पारस ने पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन पर कहा कि रामविलास पासवान की आत्मा को शांति के लिए मजबूरी में फैसला लेना पड़ा. उन्होंने कहा कि बड़े साहब केसपनों को पूरा करने के लिए पार्टी जिंदा रहेगी. मालूम हो कि लोजपा के 6 में से 5 सांसदोंं ने चिराग पासवान का साथ छोड़कर उनके चाचा पशुपति कुमार पारस को अपना नेता मान लिया है. लोजपा में हुई इस टूट के बाद चिराग को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और संसदीय दल का नेता, दोनों की कुर्सी से भी हटा दिया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.