Bihar Election: सीट बंटवारे पर मुश्किल में चिराग, एनडीए से अलग नहीं होना चाहते लोजपा के कई नेता

सीट शेयरिंग के मामले में अपनी ही पार्टी में फंस गए हैं चिराग पासवान.  (फाइल फोटो)
सीट शेयरिंग के मामले में अपनी ही पार्टी में फंस गए हैं चिराग पासवान. (फाइल फोटो)

Bihar Assembly Election: सीट बंटवारे पर एनडीए में बगावती तेवर दिखा रहे लोजपा (LJP) प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) अब अपनी ही पार्टी के नेताओं की राय से मंझधार में फंसते दिख रहे हैं. पशुपति पारस समेत कई नेताओं NDA का साथ छोड़ने पर नहीं भरी हामी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 12:30 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) से पहले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के प्रमुख घटक दल लोजपा (LJP) की मुश्किलें आसान होती नहीं दिख रही हैं. एक तरफ पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) जहां जेडीयू के मुकाबले 143 सीटों पर चुनावी जंग लड़ने को आतुर दिख रहे हैं, वहीं, उनकी ही पार्टी के कई नेता इससे सहमत नहीं हैं. लोजपा के कई नेता चिराग की इस मंशा से तो सहमत हैं कि तार्किक समझौते के बाद ही चुनाव लड़ा जाए, लेकिन वे NDA से अलग होकर मैदान में उतरने का खतरा मोल लेना नहीं चाहते हैं. ऐसे में कश्मकश और बढ़ती जा रही है. आज पशुपति कुमार पारस और सूरज भान समेत कई वरिष्ठ नेताओं के साथ हुई चिराग पासवान की बैठक में यह साफ हुआ कि लोजपा के नेता फिलहाल एनडीए से अलग नहीं होना चाहते हैं.

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान की आज वरिष्ठ नेताओं से हुई मुलाकात के बाद यह भी साफ हो गया कि पार्टी का एक धड़ा किसी भी कीमत पर एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ने के पक्ष में नहीं है. पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान के छोटे भाई और सांसद पशुपति कुमार पारस और पूर्व सांसद सूरजभान सिंह समेत कई नेताओं ने मौजूदा हालात को देखते हुए एनडीए के साथ ही चुनाव लड़ने के पक्ष में सहमति जताई. सूत्रों के मुताबिक हाजीपुर से सांसद पशुपति पारस एनडीए से अलग होने के पक्ष में नहीं हैं. हालांकि ये सभी नेता चिराग पासवान की उस मंशा से सहमत हैं कि तार्किक समझौते के साथ ही चुनाव मैदान में जाया जाए.

लोजपा के नेताओं को चिराग पासवान के फॉर्मूले से दिक्कत नहीं है. सूत्रों के मुताबिक चिराग पासवान चाहते हैं कि पार्टी बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़े, लेकिन 143 सीटों पर जेडीयू के खिलाफ पार्टी का उम्मीदवार उतरे. यही मामला उलझा हुआ है. ऐसे में लोजपा के लिए सीट बंटवारे के मसले पर अगले दो-तीन दिन काफी महत्वपूर्ण होने वाले हैं. इस बीच पार्टी नेताओं ने चिराग पासवान के प्रति एकजुटता भी दिखाई है. सांसद पशुपति कुमार पारस ने बयान भी दिया कि लोजपा के सभी नेता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के साथ हैं. पार्टी के हर फैसले के साथ सभी एकजुट हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज