vidhan sabha election 2017

लीज पर जमीन लेकर खेती कर रहे किसानों को लोन देने की तैयारी

आभास शर्मा
Updated: December 8, 2017, 8:19 AM IST
लीज पर जमीन लेकर खेती कर रहे किसानों को लोन देने की तैयारी
पटना में कृषि सम्मेलन (ईटीवी फोटो)
आभास शर्मा
Updated: December 8, 2017, 8:19 AM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है. इसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पटना में कृषि विकास सम्मेलन का आयोजन किया गया है.

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि गैर रैयत किसानों के लिए केंद्र सरकार ने लीज पॉलिसी बनाई है और इस पॉलिसी को अध्ययन करने के बाद बिहार सरकार भी इसे लागू करेगी.

उन्होंने कहा कि इस नीति से गैर रैयत किसानों को बैंको से कर्ज लेने ें आसानी होगी. सरकारी योजनाओं का लाभ भी आसानी से मिलेगा.

डिप्टी सीएम ने कहा कि उत्पादन इसलिए नहीं बढ़ रहा है कि उत्पादन करने वाले असल मालिक नहीं हैं. उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है.

उन्होंने कहा कि लीज पर जमीन लेकर खेती कर रहे किसानों को ऋण दिया जाएगा और जो किसान समय सीमा के अंदर भुगतान करेंगे उन्हें 3 प्रतिशत और जो देरी से ऋण का भुगतान करेंगे, उन्हें 7 प्रतिशत की दर से ब्याज चुकाना होगा.

इस मौके पर जहां बिहार के कृषि मंत्री ने प्रत्येक पंचायत में किसान सहायता केंद्र खोलने की बात कही तो केन्द्रीय कृषि मंत्री ने किसानों से फसल के अलावा इंटिग्रेटेड फसल की खेती करने का भी आग्रह किया.

साथ ही प्रधानमंत्री की नयी योजना स्वीट के तहत देश के सौ जिलो में खोले जाने वाले मधु प्रोसेसिंग यूनिट के विषय में भी जानकारी दी

वहीं, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि किसानों की फसल समय से मंडी में पहुंच सके इसके लिए पथों का निर्माण भी तेजी से किया जा रहा है.

इस कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह, बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार, उपमुख्यमंन्त्री सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव समेत,बीजेपी किसान मोर्चा के सदस्यों के साथ बिहार के कोने कोने से आये किसान शामिल हुए.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर