Lockdown में घट गया हनुमान जी का इनकम, हर महीने हो रहा करोड़ों रुपए का नुकसान
Patna News in Hindi

Lockdown में घट गया हनुमान जी का इनकम, हर महीने हो रहा करोड़ों रुपए का नुकसान
श्रद्धालुओं के लिए मंगलवार और शनिवार को ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था होगी. (फाइल फोटो)

पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर (Mahavir Mandir Patna) ट्रस्ट के अध्यक्ष आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि अप्रैल से अगले चार महीने तक मंदिरों के लिए दान पुण्य मिलने का वक्त होता है, क्योंकि लग्न के साथ पर्व-त्योहार ज्यादा होते हैं लेकिन चुकि लॉकडाउन (Lockdown) है ऐसे में मंदिर बंद हैं और भक्त नदारद ऐसे में पिछले दो महीने से महावीर मंदिर के कपाट बंद रहने के कारण हर महीने 2 करोड़ रुपये के नुकसान हो रहा है.

  • Share this:
पटना. कोरोना महामारी (Corona Epidemic) को लेकर हुए लॉकडाउन (Lockdown) में आम और खास दोनों तरह के लोगों की आमदनी रुक गई है. कई लोगों के तो रोजगार तक खत्म हो गए हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि इसका असर केवल मानव तक ही सीमित है. लॉकडाउन का असर देवताओं पर भी दिखने लगा है. आम दिनों में करोड़पति और अरबपति बनने वाले कई देवी देवताओं के मंदिर (Temple) के दान पात्र और बैंक अकाउंट दोनों कड़की को बखूबी बयान कर रहे हैं. कल तक हर महीने करोड़ो और रोजाना लाखों रुपए कमाने वाले भगवान की कमाई भी आज शून्य के करीब आ पहुंची है.

पटना महावीर मंदिर को हर महीने 2 करोड़ का हो रहा नुकसान
बिहार के सबसे नामचीन मंदिरों में से एक और पटना जंक्शन पर स्थित हनुमान मंदिर की भी लॉकडाउन ने माली हालत खराब कर दी है. लॉकडाउन में पटना के महावीर मंदिर को हर दिन दो करोड़ का नुकसान उठाना पड़ रहा है. महावीर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि अप्रैल से अगले चार महीने तक मंदिरों के लिए दान पुण्य मिलने का वक्त होता है, क्योंकि लग्न के साथ पर्व-त्योहार ज्यादा होते हैं लेकिन चुकि लॉकडाउन है ऐसे में मंदिर बंद हैं और भक्त नदारद ऐसे में पिछले दो महीने से महावीर मंदिर के कपाट बंद रहने के कारण हर महीने 2 करोड़ रुपये के नुकसान हो रहा है. दो महीने की इस अवधि में मंदिर को अबतक 4 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है.

नैवेधम से होने वाले 1 करोड़ की कमाई का नुकसान
पटना महावीर में नैवेधम प्रसाद की बिक्री मंदिर के आय का बड़ा स्रोत है. इससे मंदिर को हर महीने लगभग 1 करोड़ की आय होती थी पर कपाट बंद रहने के कारण ना तो श्रद्धालु पहुंच रहे हैं और ना ही कोई आय हो रहा. आचार्य किशोर कुणाल का कहना है कि आय भले ही कम हो गई है पर यहां काम करने वाले कर्मचरियों और पुरोहितो को समय से वेतन दिया जा रहा है.



महावीर मन्दिर के आय से चलती है कई संस्थाएं
पटना में महावीर मंदिर से होने वाले आय द्वारा कई बड़ी संस्थाएं चलती हैं. पटना कैंसर अस्पताल, पटना नेत्र अस्पताल, पटना वात्सल्य अस्पताल जैसी बड़ी संस्थाएं इन्ही आय से चलती है. ट्रस्ट के अध्यक्ष आचार्य किशोर जी कहा कि फिलहाल इन अस्पतालों पर कोई फर्क नही पड़ा है पर शुरू होने वाले हृदय अस्पताल का काम रुक गया है. वैसे बच्चे जिनकी उम्र 18 साल तक हो और उन्हें जन्म के समय ही हृदय में छिद्र हो जाता है तो उन्हें निःशुल्क ऑपरेशन कराने की व्यवस्था के लिए खुलने वाले नए हृदय रोग अस्पताल में होनी थी पर लॉकडाउन के कारण फिलहाल इस पर रोक लग गई है.

ये भी पढ़ें- 25 फीट गहरे मेनहोल में गिरा दो साल का मासूम, छात्र ने इस तरह बचाई जान

ये भी पढ़ें- अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे तो आंगन में दफनाई लाश, पुलिस पहुंची तो..
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading