अपना शहर चुनें

States

राजस्थान-यूपी के बाद अब बिहार पर भी मंडरा रहा टिड्डी दल के अटैक का खतरा, अलर्ट

बिहार में भी टिड्डियों के हमले का खतरा (सांकेतिक चित्र)
बिहार में भी टिड्डियों के हमले का खतरा (सांकेतिक चित्र)

बिहार में मक्का, सब्ज़ियों, आम और लीची की फसल इस समय खेतों और बागीचों में हैं, ऐसे में टिड्डियों के हमले से इनको सबसे अधिक नुक़सान हो सकता है.

  • Share this:
पटना. करोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते पहले ही किसान परेशान हैं और अब ऐसे में बिहार के किसनों के सामने टिड्डी (Locust Attack) की मुसीबत भी आने वाली है. राजस्थान और यूपी के बाद अब बिहार में भी टिड्डियों का आतंक आने वाला है. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि अगले दो दिनों में सूबे में टिड्डियों का हमला हो सकता है. टिड्डियों का ये आतंकी दल राजस्थान (Rajasthan) पार कर मध्य प्रदेश (MP) और उत्तर प्रदेश (UP) में प्रवेश कर चुका है. कृषि वैज्ञानिकों का कहना है अगर उत्तर प्रदेश में इसको इसका कोई उपाय नहीं किया गया तो ये टिड्डी दल दो दिनों में बिहार की सीमा में प्रवेश कर जाएगा.

जल्द होगी एडवाइजरी जारी
दूसरे राज्यों में टिड्डियों ने जो तबाही कि है उसको देखते हुए बिहार में इसको लेकर एडवाइजरी जारी की जाएगी. बिहार में मक्का, सब्ज़ियों, आम और लीची की फसल इस समय खेतों और बागीचे में है ऐसे में इनको सबसे अधिक नुक़सान होगा. कृषि विभाग जल्द ही कीट के प्रबंधन को लेकर एडवाइजरी जारी कर देगा ताकि बड़े पैमाने पर बगीचों और खेतों में कीटनाशक का छिड़काव हो सके .

किसान टिड्डी दल को देखते ही दें सूचना
किसानों को टिड्डियों को लेकर अलर्ट रहने को कहा गया है और किसानों को टिड्डियों को देखते ही कृषि विभाग को जानकारी देने को कहा गया है. टिड्डीयां जिस भी फसल पर बैठती हैं उसको पूरी तरह नष्ट कर देती हैं. टिड्डी दल में करोड़ों की संख्या में लगभग दो ढाई इंच लंबे कीट होते है जो कुछ ही घंटे में किसान के खेत को साफ़ कर देते हैं.



ये भी पढ़ें- बिहार के पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता के घर ताबड़तोड़ फायरिंग, दहशत में परिवार

ये भी पढ़ें- तेजस्वी का नीतीश पर हमला, बोले- सीएम के इशारे पर गोपालगंज नरसंहार की लीपापोती कर रही पुलिस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज