बिहार: 5 सीटों पर 62.52 प्रतिशत मतदान, 68 प्रत्याशियों का भविष्य EVM में बंद

पूर्णिया के एक बूथ पर मतदान

पूर्णिया के एक बूथ पर मतदान

क्षेत्रवार आंकड़ों के अनुसार पूर्णिया में 62.5 प्रतिशत, बांका में 57.64 प्रतिशत, कटिहार में 61.10 प्रतिशत, भागलपुर में 55.14 प्रतिशत, किशनगंज में 63.40 प्रतिशत वोटिंग हुई है.

  • Share this:
बिहार में लोकसभा चुनाव का पांचवा चरण संपन्न हो गया है. इसी के साथ 68 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद हो गया. शाम 6 बजे तक चुनाव आयोग केआंकड़ों के अनुसार मतदान 62.52 प्रतिशत मतदान हुआ है. हालांकि ये आंकड़े बदल सकते हैं क्योंकि अभी भी कई पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की कतार लगी हुई है.



मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच आर श्रीनिवासन ने बताया  कि 2014 के लोकसभा चुनाव की तुलना में सभी सीटों पर अधिक वोटिंग हुई है. क्षेत्रवार आंकड़ों में पूर्णिया में 62.5 प्रतिशत, बांका में 57.64 प्रतिशत, कटिहार में 61.10 प्रतिशत,  भागलपुर में 55.14 प्रतिशत,  किशनगंज में 63.40 प्रतिशत वोटिंग हुई है. हालांकि ये आंकड़े फाइनल नहीं हैं क्योंकि कई बूथों पर अभी भी लंबी कतार लगी हुई है और लोग वोट कर रहे हैं.



वर्ष 2014 से इस बार के अब तक के मतदान प्रतिशत की तुलना करें तो थोड़ी बढ़ोतरी दिख रही है. 16वीं लोकसभा चुनाव में इन क्षेत्रों में 62.46 प्रतिशत मतदान हुआ था.





आयोग के आंकड़ों के अनुसार किशनगंज में 64.52 प्रतिशत, पूर्णिया में 64.31 प्रतिशत, भागलपुर में 57.84, बांका में 58.04 और कटिहार में 67.60 प्रतिशत वोटिंग हुई थी.
बता दें कि पांचों सीट पर शाम पांच बजे तक 56.22 फीसदी वोटिंग हुई. शाम 5 बजे तक पूर्णिया में 58 प्रतिशत मतदान हुआ था. बांका में 55.20 प्रतिशत मतदान, कटिहार में 55.40 प्रतिशत मतदान, भागलपुर में 52.10 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि किशनगंज में मतदान का हिस्सा 64.40 प्रतिशत था.



इससे पहले शाम चार बजे तक पूर्णिया में 54 प्रतिशत मतदान हुआ था, बांका में 54.3 प्रतिशत मतदान हुआ है वहीं कटिहार में 50 प्रतिशत मतदान हुआ है जबकि भागलपुर में वोटिंग का प्रतिशत 46 प्रतिशत है. किशनगंज में 56.17 प्रतिशत मतदान हो सका है.



तीन बजे शाम तक बांका में 49.3 प्रतिशत, भागलपुर में 40 प्रतिशत, किशनगंज में 48 प्रतिशत कटिहार में 46 प्रतिशत मतदान, पूर्णिया में 46 प्रतिशत मतदान हो सका है. इससे पहले दोपहर दो बजे तक 38.49 फीसदी मतदान हो सका था. 2 बजे तक किशनगंज में 40.30 प्रतिशत मतदान हुआ था वहीं कटिहार में 37 प्रतिशत, पूर्णिया में 42 प्रतिशत, भागलपुर में 33 प्रतिशत मतदान हुआ था. बांका में मतदान का प्रतिशत 40.16 प्रतिशत रहा है.



निर्वाचन आयोग से मिले आंकड़ों के मुताबिक दोपहर एक बजे तक बिहार में कुल 31.25 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. दोपहर 1 बजे तक किशनगंज में 32 प्रतिशत, कटिहार में 32 प्रतिशत, पूर्णिया में 31.82 प्रतिशत मतदान हो सका था वहीं भागलपुर में 28 प्रतिशत मतदान जबकि बांका में 32.6 प्रतिशत मतदान हुआ. इससे पहले दोपहर 12 बजे तक किशनगंज में 26.20 प्रतिशत, कटिहार में 25 प्रतिशत, पूर्णिया में 25.45प्रतिशत, भागलपुर में 23 प्रतिशत, बांका में 28.30 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. दस बजे तक लगभग 15 प्रतिशत वोटरों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था.



ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: मायवती बोलीं- दलितों से दूर रखने के लिए चुनाव आयोग ने मुझ पर प्रतिबंध लगाया



किशनगंज में 15.5 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि कटिहार में 15 प्रतिशत, पूर्णिया में 15 प्रतिशत,

भागलपुर में 15 प्रतिशत मतदान हुआ था. बांका में सुबह 10 बजे तक 14.25 प्रतिशत मतदान हुआ था



वोटिंग को लेकर मतदाताओं में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. सुबह सात बजे से जारी मतदान के पहले ही वोटर काफी तादाद में वोट डालने पहुंचे थे. शुरूआती दौर में कुछ जगहों से ईवीएम के खराब होने की शिकायत मिली जिसे दूर कर लिया गया. सुबह 8 बजे तक किशनगंज में 3.5 प्रतिशत मतदान हुआ था, कटिहार में वोटिंग का प्रतिशत 3 था जबकि पूर्णिया में 4 प्रतिशत, भागलपुर में 7 प्रतिशत और बांका में 4 प्रतिशत मतदान हुआ था.



ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: सीमांचल का सियासी गणित बदलने की तैयारी, 20 को फारबिसगंज में पीएम मोदी की रैली



बिहार के ही कटिहार में एक मतदान केंद्र के बाहर कांग्रेस का झंडा लगा मिला है. मामला कटिहार के त्रिवेणी नायक स्कूल से जुड़ा हुआ है. लोगों ने इसकी शिकायत स्थानीय अधिकारियों से की है. 5 लोकसभा सीटों पर मुकाबला काफी दिलचस्प है क्योंकि इन इलाकों में 2014 में भी मोदी लहर नहीं चली थी. दूसरे दौर में जिन पांच सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं भागलपुर, बांका, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार है.



ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019 : बांका में पुतुल और गिरधारी समर्थकों में हिंसक भिड़ंत, पुलिस ने की फायरिंग



चुनाव में जीत के दावेदारों की बात करें को उनकी संख्या 68 है. भागलपुर, पूर्णिया और कटिहार में आरपार की लड़ाई है, जबकि किशनगंज और बांका में त्रिकोणीय संघर्ष के आसार बन रहे हैं. स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी मतदान के लिए सुरक्षा के साथ ही दूसरे इंतजाम भी मुकम्मल हैं. निगरानी से आपात स्थिति के लिए हेलीकॉप्टर और एयर एंबुलेंस की तैनाती की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज