शरद यादव की हार सुनिश्चित करने को कोसी में कैम्प कर रहे नीतीश

नीतीश कुमार ने 2014 के लोकसभा चुनाव में शरद यादव को मधेपुरा सीट से जिताने के लिए एक हफ्ते तक कैम्प किया था. उस समय शरद यादव मधेपुरा से जेडीयू के चुनाव चिन्ह से चुनाव लड़ रहे थे.

News18 Bihar
Updated: April 19, 2019, 1:58 PM IST
शरद यादव की हार सुनिश्चित करने को कोसी में कैम्प कर रहे नीतीश
फाइल फोटो
News18 Bihar
Updated: April 19, 2019, 1:58 PM IST
बिहार की राजनीति के सबसे कद्दावर नेता और प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों कोसी क्षेत्र में कैम्प कर रहे हैं. जानकारी के अनुसार पिछले एक हफ्ते से वे लगातार इस क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं और कभी-कभी रात्रि विश्राम भी वहीं करते हैं. उनकी कैम्पिंग को अब शरद यादव की मधेपुरा से उम्मीदवारी से जोड़कर भी देखा जा रहा है.

राजनीतिक गलियारों में हो रही चर्चा के अनुसार नीतीश कुमार की यह कैम्पिंग मधेपुरा सीट से शरद यादव की हार सुनिश्चित करने के लिए है. बता दें कि नीतीश कुमार ने 2014 के लोकसभा चुनाव में शरद यादव को मधेपुरा सीट से जिताने के लिए एक हफ्ते तक कैम्प किया था. उस समय शरद यादव मधेपुरा से जेडीयू के चुनाव चिन्ह से चुनाव लड़ रहे थे. तब वे आरजेडी के पप्पू यादव से हार गए थे.



ये भी पढ़ें-  लालू के जेल से टिकट बांटने पर JDU ने उठाए सवाल, RJD प्रत्याशियों का टिकट रद्द करने की मांग

हालांकि इस बार का परिदृश्य बिल्कुल उलट है. शरद यादव और नीतीश कुमार एक दूसरे के विरोधी हो गए हैं और शरद आरजेडी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. सूत्रों की मानें तो शरद को हराने के लिए नीतीश 21 अप्रैल तक कोसी इलाके में ही रुका करेंगे. बता दें कि यहां उसी दिन प्रचार का अंतिम दिन है.

हालांकि लोकसभा चुनाव के इस तीसरे दौर में मधेपुरा के साथ कोसी के सुपौल और झंझारपुर इलाके में भी वोट डाले जाएंगे. इन तीनों ही सीटों पर नीतीश की पार्टी जेडीयू के ही उम्मीदवार एनडीए की ओर से चुनाव मैदान में हैं. जाहिर है नीतीश कुमार का कोसी क्षेत्र में रहना भर ही बड़ा मैसेज है.

बहरहाल राजनीति में वो फ़लसफा बिलकुल सटीक है कि राजनीति में ना तो कोई स्थायी दोस्त होता है, और ना ही दुश्मन. शायद नीतीश शरद की राजनीति भी इसी फलसफे पर फिट बैठती है.

रिपोर्ट- आनंद अमृतराज
Loading...

ये भी पढ़ें-
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...