तेजस्वी का खुला खत, बिहारवासियों की पहनाई एक-एक माला, एक-एक नारे का है मुझ पर ऋण

News18 Bihar
Updated: May 12, 2019, 6:00 PM IST
तेजस्वी का खुला खत, बिहारवासियों की पहनाई एक-एक माला, एक-एक नारे का है मुझ पर ऋण
तेजस्वी यादव (File Photo)

तेजस्वी ने इस खत में जेल में बंद अपने पिता लालू प्रसाद यादव के लिए खेद जताते हुए कहा कि उन्हें साजिशन इस चुनाव प्रचार से दूर रखा गया.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए रविवार को छठवें चरण का मतदान हो रहा है. देश के 7 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. बिहार में 8 सीटों पर भी वोटिंग हो रही है. इस मौके पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे और राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिहारवासियों के नाम एक खत लिखा है.

तेजस्वी ने इस खत में जेल में बंद अपने पिता लालू प्रसाद यादव के लिए खेद जताते हुए कहा कि उन्हें साजिशन इस चुनाव प्रचार से दूर रखा गया. उन्होंने बिहार की जनता का पिता की अनुपस्थिति में उनका समर्थन करने के लिए धन्यवाद करते हुए आरेजडी के लिए वोट की अपील भी की है. तेजस्वी ने इस खत को अपने फेसबुक और ट्विटर पर शेयर किया है.

तेजस्वी की चिट्ठी...

मेरे प्रिय बिहारवासियों,

आज जब देश में छठे चरण का चुनाव हो रहा है. मैं हर एक बिहारवासी को दिल से धन्यवाद करना चाहता हूं. यह पहला चुनाव है जब मेरे पिता को साज़िशन चुनाव प्रचार से दूर किया गया है. साम्प्रदायिक ताकतों से उनकी लड़ाई अभी भी जारी है. हां, वो शारीरिक रूप से साथ नहीं इसलिए दिल थोड़ा सा भारी है, लेकिन वैचारिक रूप से हर कण-हर क्षण वो हम सभी के अंग-संग है.

मैं आपका धन्यवाद इसलिए भी करना चाहता हूं क्योंकि आपने इस चुनाव में मेरी हिम्मत, हौसले और जुनून को बनाए रखा है. ठीक वैसे ही जैसे मेरे पिता के लिए करते हैं. आपकी पहनाई एक-एक माला, आपकी ओजस्वी आवाज में लगा एक-एक नारा, अन्याय के अन्धेरे को जड़ से मिटाने का... लालटेन जलाने का आपका प्रण... मुझपर ऋण है.

एक नया बिहार बनाने में आपने जो बढ़-चढ़ कर मेरा साथ दिया है, उससे मुझे भी शक्ति मिली है कि अपनी हर एक सांस को बिहार की सेवा के लिए समर्पित करूं. हर उस इंसान के दुख दर्द को दूर करूं जो नीतीश-मोदी राज के नकारेपन का शिकार हुआ है.
Loading...

वो नियोजित शिक्षक जिनकी परवाह नीतीश चाचा को नहीं है. वो पीड़ित बच्चियां जिनके साथ घिनौने जुर्म और ज्यादतियों का अन्तहीन सिलसिला रहा. वो व्यापारी जो आए दिन रंगदारी, लूट डकैती से परेशान हैं, जी.एस.टी. नोटबन्दी की मार से बेहाल है. वो दलित, पिछड़े और वंचित लोग जिनके आरक्षण को खत्म करने की साजिशें की जा रहीं है.

वो हाशिए पर डाल दिए गए इंसान जो लगभग 14 साल के नीतीश चाचा के शासन के बाद भी ‘रोड नहीं तो वोट नहीं' का नारा लगाने को मजबूर है. वो घर चलाने वाली हमारी माताएं बहनें जिन्हें रसोई गैस और राशन मंहगा होने से घर चलाने में दिक्कत आ रही है वो छात्र, शिक्षा व्यवस्था में फैला भ्रष्टाचार जिनकी योग्यता का मखौल उड़ा रहा है. वो बहन, बेटियां जिन पर घर में घुसकर एसिड अटैक हो रहा है. वो अल्पसंख्यक भाई जिनके खिलाफ नीतीश मोदी सरकार के मंत्री खुलेआम नफरत फैलाने वाले भाषण दे रहें है. वो प्रशासन के ईमानदार अधिकारी जिन्हें अपना फर्ज निभाने पर मोदी-नीतीश के मंत्रियों द्वारा गाली मिल रहीं है. वो मतदाता जिसका वोट पहले धोखे से छीना गया और अब चुनावों में धोखे से भाजपा और जदयू के पक्ष में डलवाने की असफल कोशिश हो रही है.

तेजस्वी यादव की चिट्ठी


वो किसान जो सुसाइड नोट में ‘मोदी को वोट मत देना' लिखकर मरने को मजबूर है. वो मजदूर जो 14 साल के नीतीश चाचा के राज के बाद भी घर छोड़ने को मजबूर है, वो रिक्शेवाला जो 14 साल के नाकाम राज के बोझ को अभी तक भी खींचे जा रहा है. वो बेरोजगार जिसे दो करोड़ नौकरियों का झांसा देकर उसे पकौड़े बेचने का ज्ञान दे दिया गया. वो गरीब जिसके खाते में 15 लाख तो क्या 15 रूपये भी नहीं आए और बिहार का वो एक-एक नागरिक जो अभी भी बिहार के स्पेशल पैकेज और विशेष राज्य के दर्जे के वादे के पूरा होने का इन्तजार कर रहा है.

हम सब साथ मिलकर इस अन्यायी सत्ता को जड़ से उखाड़ेंगे, अत्याचारी अन्धेरों को घर में घुसकर हटाएंगे पर हिंसा से ‘तीर' चलाकर नहीं, प्यार से ‘लालटेन' जलाकर. याद रखिएगा हमारा एक वोट बिहार के एक-एक नागरिक को इंसाफ देगा... बिहार को एक नई प्रभात देगा.

अंधेरों को हराते हैं, चलो लालटेन जलाते हैं
लालटेन का बटन दबाएं... राष्ट्रीय जनता दल को जिताएं... तानाशाही हटाएं... अपनी सरकार बनाएं.

आपका,
तेजस्वी यादव

ये भी पढ़ें- 

आरा में बोले तेजप्रताप यादव, करण-अर्जुन नहीं बल्कि कृष्ण और अर्जुन हैं हम दोनों भाई

मदर्स डे पर तेजस्वी ने किया मां राबड़ी देवी को याद, लिखी ये शायरी

मदर्स डे पर तेजप्रताप का इमोशनल ट्वीट, कहा- मां की वजह से है मेरा अस्तित्व, वरना...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 12, 2019, 5:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...