• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • लोकसभा नतीजे: बिहार में इस पार्टी के नाम रहा सबसे बड़ी और छोटी जीत का रिकॉर्ड

लोकसभा नतीजे: बिहार में इस पार्टी के नाम रहा सबसे बड़ी और छोटी जीत का रिकॉर्ड

एनडीए के नेता

एनडीए के नेता

बिहार में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड मधुबनी के बीजेपी प्रत्याशी अशोक यादव ने बनाया. उन्होंने अपने विरोधी महागठबंधन के उम्मीदवार को चार लाख 54 हजार 940 वोटों से हराया.

  • Share this:
2019 के लोकसभा चुनावों में एनडीए को बिहार में शानदार कामयाबी मिली है. इस चुनाव में कई गुमनाम चेहरों को बड़ी जीत मिली है तो कई नामचीन चेहरों को करारी हार. इसके साथ ही बिहार में हार-जीत के नए रिकॉर्ड्स बने हैं. एक रिकॉर्ड सबसे बड़ी और छोटी जीत का है जो कि बहुमत की तरह ही एनडीए के खाते में गई है. बिहार की 40 में से 39 सीटों पर एनडीए को जीत मिली इसमें सबसे बड़ी जीत सबसे पहले आई और सबसे छोटी जीत अंत में.

हार-जीत के अंतर की बात करें तो एनडीए के 39 में से 34 प्रत्याशियों ने अपने विरोधियों को एक लाख से अधिक मतों से मात दी लेकिन एक प्रत्याशी की जीत का अंतर महज डेढ़ हजार से कुछ वोट ज्यादा था. बिहार में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड मधुबनी के बीजेपी प्रत्याशी अशोक यादव ने बनाया. उन्होंने अपने विरोधी महागठबंधन के उम्मीदवार को चार लाख 54 हजार 940 वोटों से हराया. बड़ी जीत दर्ज करने के मामले में दूसरे नंबर पर बेगूसराय के बीजेपी उम्मीदवार गिरिराज सिंह रहे.

पूरे देश के लिए हॉट सीट बनी बेगूसराय से गिरिराज ने सीपीआई के कन्हैया कुमार को चार लाख 22 हजार 217 वोटों से मात दी. हार-जीत में लाख वाला अंतर अधिकांश नेताओं के साथ रहा. मुजफ्फरपुर में भारतीय जनता पार्टी के अजय निषाद भी ज्यादा पीछे नहीं रहे. उन्होंने भी अपने विरोधियों पर चार लाख छह हजार 407 वोट के अंतर से बड़ी जीत हासिल की. बिहार में एनडीए की जीती हुई सीटों के जीत का अंतर निकालें तो औसत 2.19 लाख वोटों का होता है.

जेडीयू खेमे की बात करें तो वाल्मीकिनगर में जेडीयू के बैद्यनाथ महतो, झंझारपुर में जेडीयू के रामप्रीत मंडल, मधेपुरा में जेडीयू के दिनेश चंद्र यादव ने बड़ी जीत हासिल की. शिवहर में बीजेपी की रमा देवी की जीत तीन लाख से भी अधिक वोटों से हुई.

एलजेपी की बात करें तो हाजीपुर में पशुपति पारस, जमुई से चिराग पासवान, वैशाली में वीणा देवी ने भी अपने विरोधियों को दो लाख से अधिक मतों के बड़े अंतर से हराया.अब बात की जाए सबसे छोटी जीत की जिसकी घोषणा में सबसे ज्यादा वक्त लगा तो वो है जहानाबाद सीट. इस सीट से जेडीयू के चंदेश्वर चंद्रवंशी की जीत हुई लेकिन उन्हें इसके लिए काफी मेहनत करनी पड़ी.

इस सीट से उन्होंने राजद के सुरेंद्र यादव को 1711 वोटों से हराया. जहानाबाद की सीट से राजद को एक मात्र आस थी और देर रात तक पार्टी के बड़े नेता और कार्यकर्ता इस उम्मीद के साथ वहां टिके थे कि जहनाबाद से ही सही राजद का खाता खुलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और सुरेंद्र यादव हार गए.

ये भी पढ़ें- गिरिराज सिंह ने इन्हें दिया अपनी बंपर जीत का श्रेय

ये भी पढ़ें- नीतीश की बादशाहत के बीच JDU ने नालंदा से लगाई जीत की हैट्रिक

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज