• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बोले केसी त्यागी- 'वंदे मातरम NDA का नारा नहीं, न ही संयुक्त सभाओं कार्यक्रम'

बोले केसी त्यागी- 'वंदे मातरम NDA का नारा नहीं, न ही संयुक्त सभाओं कार्यक्रम'

फाइल फोटो

फाइल फोटो

केसी त्यागी ने कहा कि वंदे मातरम आजादी का तराना है. कोई भारतीय इसके खिलाफ नहीं और न ही विरोध में है. जो कहते है कि या तो नारा लगाओ, नहीं तो देश निकाला होगा, इस तरह की प्रवृति के जेडीयू खिलाफ है.

  • Share this:
    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा में वंदे मातरम के नारे के दौरान सीएम नीतीश कुमार के दिलचस्पी नहीं दिखाए जाने को लेकर बिहार में राजनीति जारी है. लेकिन जेडीयू ने इस मामले पर सफाई पेश की है. पार्टी के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने कहा कि वंदे मातरम एनडीए का स्थापित नारा नहीं है और न ही यह संयुक्त सभाओं का कार्यक्रम है.

    केसी त्यागी ने कहा कि वंदे मातरम आजादी का तराना है. कोई भारतीय इसके खिलाफ नहीं और न ही विरोध में है. जो कहते है कि या तो नारा लगाओ, नहीं तो देश निकाला होगा, इस तरह की प्रवृति के जेडीयू खिलाफ है.  ज़बर्दस्ती इस नारे को लगाने के हम बिल्कुल खिलाफ हैं और हम मानते हैं किसी पर थोपा नहीं जा सकता.

    ये भी पढ़ें- तारिक अनवर बोले- 'पार्टी तय करेगी कि शत्रुघ्न सिन्हा पत्नी धर्म निभाएंगे या पार्टी धर्म'

    बता दें कि बीते  25 अप्रैल को दरभंगा में एनडीए की एक रैली में भाषण के अंत में पीएम मोदी ने उपस्थित जनसमूह से वंदे मातरम के नारे लगवाए थे.  इस दौरान मंच पर मौजूद सभी नेताओं ने भी काफी जोश से वंदे मातरम के उद्घोष किया, लेकिन नीतीश कुमार ने इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाई. ये सारा दृश्य कैमरे में कैद हो गया.

    इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि भाषण के अंत में प्रधानमंत्री मोदी ने जोर-जोर से वंदे मातरम-वंदे मातरम का नारा लगाया. भीड़ और मंच पर बैठे नेता मुट्ठी बांध कर, हवा में हाथ उठा कर वंदे मातरम...वंदे मातरम करने लगे. यहां तक कि रामविलास पासवान भी वंदे मातरम...वंदे मातरम करने लगे. मगर नीतीश कुमार बचने की कोशिश करते रहे.

    ये भी पढ़ें- ओडिशा तट से टकराया फानी तूफान, बिहार के इन जिलों पर भी तबाही का खतरा

    केसी त्यागी ने बुर्का और घूंघट विवाद पर भी पार्टी की राय स्पष्ट करते हुए कहा कि न बुर्का और न ही घूंघट पर प्रतिबंध लगना चाहिए. इसे इनकी मर्जी पर छोड़ देना चाहिए. उन्होंने सीताराम येचुरी के उस बयान की आलोचना भी की जिसमें उन्होंने कहा था कि हिंदू भी हिंसक होते हैं.

    केसी त्यागी ने कहा कि सीताराम येचुरी को चुनाव के वक्त ऐसे बयानों से बचने की जरूरत है. न हिंदू उग्र होते हैं और न ही मुस्लिम. दोनो में  कुछ फ्रिंज एलिमेंट होते हैं.  दोनो धर्म के लोगों को इनसे सावधान रहने की जरूरत है.

    इनपुट- अमितेश

    ये भी पढ़ें-

    तेजप्रताप ने तेजस्वी पर ली चुटकी- 'कुछ लोग महज चार प्रोग्राम करके लरूआ जाते हैं'


    मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: CBI बोली, खुदाई के दौरान मिली थी हड्डियां

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज