• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • पीएम मोदी का भाषण सुन 'शर्म' महसूस कर रहे RJD नेता, BJP ने दिया ये जवाब

पीएम मोदी का भाषण सुन 'शर्म' महसूस कर रहे RJD नेता, BJP ने दिया ये जवाब

फाइल फोटो

फाइल फोटो

शिवांद तिवारी ने कहा कि शर्म आती है नीतीश कुमार पर जो एक समय नरेंद्र मोदी के विकल्प थे, आज नरेन्द्र मोदी की शान में कसीदे गढ़ रहे हैं, उनकी चाकरी कर रहे हैं.

  • Share this:
    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को बिहार के मुजफ्फरपुर रैली में लालू यादव और राबड़ी देवी के 15 वर्षों के शासन पर कटाक्ष किया. लोगों को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि जिन्होंने बिहार की पहचान बदली थी, वो इस चुनाव में केंद्र में अपनी सरकार बनाने के लिए नहीं लड़ रहे हैं. वो किसी भी तरह से अपने सदस्य बढ़ाने के लिए छटपटा रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बिहार में लूट-पाट, अपहरण और भ्रष्टाचार के दिन वापस लाना है. इस बयान पर आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि पीएम के इस बयान पर उन्हें शर्म आ रही है.

    आरजेडी नेता ने कहा कि सड़क पर जिस तरह से 'दादा' लोग बोलते हैं वैसी ही बोली प्रधानमंत्री बोल रहे हैं. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि मालेगांव की घटना में साध्वी प्रज्ञा शामिल थी और उसको सरकार ने उमीदवार बनाया है.

    शिवांद तिवारी ने कहा कि शर्म आती है नीतीश कुमार पर जो एक समय नरेंद्र मोदी के विकल्प थे, आज नरेन्द्र मोदी की शान में कसीदे गढ़ रहे हैं, उनकी चाकरी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी के डर से जेडीयू ने अपना घोषणा पत्र जारी नहीं किया है.

    आरजेडी नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री की भाषा और नीतीश कुमार की भाषा से पता चलता है NDA की स्थिति काफी खराब है.  चुनाव आयोग सरकार के सामने घुटने टेक चुकी है. सरकार सैनिकों के नाम पर सरकार वोट मांग रही है, लेकिन चुनाव आयोग करवाई नहीं कर रहीं है.

    शिवानंद तिवारी के इस बयान पर बीजेपी के बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव ने पलटवार करते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, लालू जी के खिलाफ शिकायत करने वालों में एक प्रमुख नेता थे शिवानन्द तिवारी जी. ये कौन हैं ये शिवानन्द तिवारी जी? ये हैं RJD के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष.  तेजस्वी बाबू एक ठो निहोरा है कि एकबेर तिवारी जी से तो पूछिए कि उन्होंने लालू जी के खिलाफ शिकायत काहें दर्ज कराया? तनि पूछिये न एकबार..



    बता दें कि पीएम ने लालू-शासन पर तंज कसते हुए यह भी कहा कि उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बेटियों का अपहरण, गुंडागर्दी, हत्याएं और हर योजना में भ्रष्टाचार. उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है सूरज ढलने के बाद अपने ही घर मे कैद हो जाना. घुट-घुट के जीना. पलायन के लिए मजबूर होना.

    इनपुट- धर्मेंद्र

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज