NDA की जीत पर बोले नीतीश- समाज में कटुता फैलाने वालों को जनता ने दिया जवाब

बिहार में जब महागठबंधन बना था तो काफी जोर शोर से जातीय समीकरण का ढोल पीटा गया था. लेकिन कागजों पर किए गए सारे सियासी समीकरण धरातल पर जमींदोज हो गए.

News18 Bihar
Updated: May 23, 2019, 7:00 PM IST
NDA की जीत पर बोले नीतीश- समाज में कटुता फैलाने वालों को जनता ने दिया जवाब
नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: May 23, 2019, 7:00 PM IST
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एनडीए की जीत पर पीएम मोदी और देश की जनता को बधाई दी. पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि जनता के प्रति मैं सम्मान प्रकट करता हूं. लोकतंत्र में जनता मालिक है. उन्होंने अपनी इच्छा के अनुरूप एक मत सामने रखा है. हमलोगों के लिए एक बड़ी जिम्मेवारी आ गई है. उन्होंने पीएम मोदी को बधाई देते हुए कहा कि बिहार में लोगों ने मतदान के माध्यम से अपनी भावना प्रकट की है. उन्होंने विशेष राज्य के मुद्दे पर कहा कि पिछड़े राज्यों का पिछड़ापन दूर करने के लिए विशेष पहल की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर बहुत सारी कही गईं. समाज में कटुता फैलाने की कोशिश की गई, लेकिन हमलोगों के विपक्ष में जो हैं उनकी बातों का जवाब देना मेरे लिए मुनासिब नहीं है. जनता मालिक है, जनता ने अपना मत प्रकट कर दिया कि उनकी क्या भावना है.

ये भी पढ़ेंबिहार: बेगूसराय में कन्हैया कुमार पर कैसे भारी पडे़े गिरिराज, पढ़ें पांच वजह

उन्होंने कहा कि जिस तरह से चुनाव के दौरान और चुनाव के बाद कटुता का अभियान चला वह बिहार में नहीं चलेगा. हमलोगों ने अपनी बात रखी, जिसमें केंद्र में मोदी जी की सरकार ने जो काम किया है और बिहार सरकार ने जो काम किया है, उसपर जनता ने मुहर लगा दी है.

एऩडीए सरकार में शामिल होने की बात पर उन्होंने कहा कि मतदान के जो नतीजे आ रहे हैं उसके बाद 25 तारीख के बाद जो सरकार बनेगी वह एनडीए की सरकार बनेगी. जो नेतृत्व करते हैं उनकी भूमिका है कि वह किन पार्टियों को साथ रखना चाहेंगे.

ये भी पढ़ें- बिहार: दोनों सीटों से हारे उपेंद्र कुशवाहा, महागठबंधन का समीकरण नहीं आया काम

बिहार में जब महागठबंधन बना था तो काफी जोर शोर से जातीय समीकरण का ढोल पीटा गया था. लेकिन कागजों पर किए गए सारे सियासी समीकरण धरातल पर जमींदोज हो गए. पीएम मोदी के सबका साथ-सबका विकास की नीति और सीएम नीतीश के सात निश्चय के विरोधी दलों का जातीय गणित फेल हो गया.
मिथिलांचल की तीन में से तीन, कोसी की दो में से दो, सीमांचल की चार में से तीन, अंग क्षेत्र की तीन में से तीन, चम्पारण की चार में से चार, तिरहुत की चार में से सभी चार सीटों पर एनडीए ने विजय प्राप्त की.

इसी तरह मगध की औरंगाबाद, गया, नवादा, पटना साहिब, नालंदा, पाटलिपुत्र में भी एनडीए जीत चुका है. वहीं जहानबाद सीट पर थोड़ी नेक टू नेक फाइट है. जबकि सारण क्षेत्र का महाराजगंज, गोपालगंज, सीवान, सारण सभी पर एनडीए की जीत हुई है.

ये भी पढ़ें-
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...