लाइव टीवी

SC के फैसले के बाद युवाओं में बढ़ी धर्म के प्रति रुचि, पटना में भगवान राम की किताबें हुईं Out of stock

News18 Bihar
Updated: November 13, 2019, 11:02 AM IST
SC के फैसले के बाद युवाओं में बढ़ी धर्म के प्रति रुचि, पटना में भगवान राम की किताबें हुईं Out of stock
पटना में राम से जुड़ी किताबें की बिक्री बढ़ी (फाइल फोटो)

पटना पुस्तक मेला (Patna Book Fair) में प्रकाशकों का कहना है धार्मिक किताबों में राम के किताबों कि बिक्री सबसे ज्यादा हो रही हैं. यही वजह है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महज तीन दिन में ही यहां भगवान राम की पुस्तकें आट ऑफ स्टाक (Out Of stock) हो गई हैं.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 13, 2019, 11:02 AM IST
  • Share this:
पटना. अयोध्या (Ayodhya) में विवादित रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) में भगवान राम (Lord Rama) से जुड़ी साहित्य में लोगों की दिलचस्पी बढ़ गई है. खासकर युवा, रामचरित्रमानस या राम की जीवनी से जुड़ी किताबें ज्यादा खरीद रहे हैं. पटना पुस्तक मेला (Patna Book Fair) में प्रकाशकों का कहना है धार्मिक किताबों में राम के किताबों कि बिक्री सबसे ज्यादा हो रही हैं. यही वजह है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महज तीन दिन में ही यहां भगवान राम की पुस्तकें आट ऑफ स्टाक (Out Of stock) हो गई हैं.

दरअसल, पटना के गांधी मैदान में इन दिनों पुस्तक मेला लगा हुआ है. इस पुस्तक मेले में राज्य भर से युवा और विद्यार्थी किताबें खरीदने आते हैं. यूं तो पटना पुस्तक मेले में कई प्रकाशकों की स्टॉल लगी हैं, लेकिन इस बार लोग धर्म ग्रंथों में ज्यादा रुचि ले रहे हैं. यही कारण है कि मेले में धार्मिक बुक्स स्टॉल पर लोगों की ज्यादा भीड़ देखी जा रही है. इनमें युवकों की संख्या सबसे ज्यादा है.

भगवान राम की किताबें सबसे ज्यादा खरीदी जा रही हैं
एक प्रकाशक ने बताया कि धार्मिक ग्रंथों में भगवान राम की किताबें सबसे ज्यादा खरीदी जा रही हैं. प्रकाशक का कहना है कि यहां आने वाले युवाओं की रुचि भगवान राम की जीवनी को जानने में ज्यादा है. नोवेल्टी एंड कंपनी की मानें तो उनके स्टॉल से सिर्फ तीन दिन में भगवान राम से जुड़ी 60 से भी ज्यादा किताबें खरीदी जा चुकी हैं. वहीं, मेले आने वाले युवाओं का कहना है कि भगवान राम के पदचिन्हों पर चलकर ही महान बना जा सकता है.

बता दें कि बीते शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाले पांच जजों की बेंच ने वर्षों पुराने अयोध्या राम मंदिर विवाद का निपटारा करते हुए विवादित जमीन रामलला विराजमान को देने का निर्णय सुनाया था.

(रिपोर्ट- ज्योति)

ये भी पढ़ें- भूमि विवाद को लेकर गांव में गरजी बंदूकें, महिला समेत नौ लोगों को मारी गोली

18 साल से नंगे पांव घूम रहा है यह शख्स, अब अयोध्या में जाकर पहनेगा चप्पल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 10:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर