बिहार: कई शहरों में गिरने लगा तापमान तो होने लगा 'गुलाबी ठंड' का अहसास, बर्फीली हवाओं के साथ बढ़ेगी कनकनी

अब बिहार में ठंड की दस्तक होगी.
अब बिहार में ठंड की दस्तक होगी.

मौसम विभाग (Wrather Department) का कहना है कि पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी शुरू होते ही हवाएं काफी कनकनी लेकर मैदानी इलाकों में आएंगी. जिससे ठंड बढ़नी तय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2020, 10:01 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में अचानक पारा लुढ़कने के साथ ही लोगों को 'गुलाबी ठंड' का अहसास होने लगा है. रात में हल्की ठंड (Cold) लगने लगी है और पारा में गिरावट की वजह से सर्दी-खांसी के मरीज बढ़ने लगे हैं.  पटना सहित प्रदेश के कई शहरों में न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट हुई है. गुरुवार को गया में न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री नीचे आने से रात में ठंड का काफी असर दिखा. वहीं, गया का न्यूनतम तापमान सुबह में सबसे कम 13.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

पटना का मिनिमम टेंपरेचर सामान्य से लगभग 2 डिग्री नीचे,  17.3 डिग्री दर्ज किया गया. पूर्णिया का न्यूनतम तापमान सामान्य से 2 डिग्री ऊपर 20.8 डिग्री दर्ज  किया गया जबकि भागलपुर का न्यूनतम पारा 20 डिग्री रहा. गया को छोड़कर सभी शहरों का पारा सामान्य से 2 डिग्री ऊपर रहा.

मौसम विभाग का कहना है कि पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी शुरू होते ही हवाएं काफी कनकनी लेकर मैदानी इलाकों में आएंगी. जिससे ठंड बढ़नी तय है. अगले 1 हफ्ते में दिन के तापमान में कमी आएगी जिससे ठंड बढ़ने के आसार हैं.



बता दें कि कोरोना के कारण पिछले 7 महीने से सामान्य मरीजों की संख्या में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी, लेकिन मौसम में परिवर्तन के साथ ही बड़ी संख्या में अस्पतालों में मरीज पहुंचने लगे हैं. पीएमसीएच आईजीआईएमएस, न्यू गार्डिनर और  गर्दनीबाग जैसे अस्पतालों में ओपीडी में मरीजों की संख्या में अचानक तेजी आई है. अभी सर्दी- खांसी, बुखार, चर्मरोग और गले में खरास एवं सांस फूलने के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है.
पीएमसीएच में कुछ दिन पहले तक मरीजों की संख्या घटकर डेढ़ सौ से 200 हो गई थी, लेकिन प्राचार्य बीपी चौधरी ने बताया कि अब यह 1500 से 2000 तक पहुंच गई है. वहीं आईजीएमएस में भी मरीजों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है और एक हजार से ज्यादा मरीज प्रतिदिन आ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज